किसानों ने लघु सचिवालय से हटाया धरना, उपायुक्त ने सभी जायज मांगों के समाधान का दिया आश्वासन

punjabkesari.in Tuesday, Mar 15, 2022 - 03:46 PM (IST)

फतेहाबाद (रमेश कुमार): फतेहाबाद के लघु सचिवालय में अपनी मांगों को लेकर पगड़ी संभाल जट्टा किसान संघर्ष समिति द्वारा दो दिन के पड़ाव को आज स्थगित कर दिया गया। किसानों व डीसी के बीच एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उपायुक्त ने किसानों व श्रमिकों से जुड़ी हुई समस्याओं व मांगों पर गहनता से विचार विमर्श किया। उपायुक्त ने जिला स्तर पर सभी समस्याओं व मांगों को शीघ्रता से हल करने बारे संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। जिला प्रशासन के साथ किसानों व श्रमिकों संगठनों के प्रतिनिधियों की बातचीत सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई, जिसमें अधिकतर समस्याओं का निपटारा हुआ। बैठक में उपायुक्त प्रदीप कुमार ने पंचायती भूमि की हर वर्ष होने वाली बोली को 15 अप्रैल से पहले-पहले करने बारे जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी बलजीत सिंह चहल को निर्देश दिए। किसानों की खराब हुई फसल के मुआवजा वितरण संबंधी समस्या का निपटारा करते हुए उपायुक्त ने राजस्व विभाग सहित संबंधित विभाग के अधिकारियों को अवकाश के दिनों में भी मुआवजा राशि वितरण करने के निर्देश दिए।

मुआवजा वितरण कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए उपायुक्त ने अधिकारियों से कहा कि इस कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण किया जाए। पंचायती व शामलात की भूमि पर नाजायज फसल की बिजाई करने और अवैध कब्जे करने वाले व्यक्तियों के बारे में संबंधित अधिकारियों व उपायुक्त कार्यालय को अवगत करवाए ताकि गैर कानूनी कार्य करने वालों पर शीघ्रता से कार्यवाही की जा सके। बुजुर्गों, दिव्यांग व विधवा महिलाओं की पेंशन बनाने व वितरण संबंधी समस्या के बारे में उपायुक्त प्रदीप कुमार ने प्रतिनिधियों से कहा कि संबंधित पात्र परिवार या सदस्य परिवार पहचान पत्र में अपनी-अपनी आय दुरूस्त करवा लें। जिला में हर माह की 30 तारीख को ब्लॉक स्तर पर मेडिकल कैंप आयोजित कर पात्र नागरिकों की पेंशन संबंधी आयु का निर्धारण किया जाएगा, ताकि उनकी पेंशन बन सके। किसान की एक एकड़ की 60 हजार की इनकम संबंधी समस्या बारे संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर उचित समाधान किया जाएगा। मीटिंग में किसानों ने मुद्दा उठाया कि किसान रेस्ट हाउस पर ताला लगा रहता है। 

इस पर उपायुक्त ने आज ही ताला खोलने के आदेश दिए। साथ ही गांव तामसपुरा में आंगनबाड़ी केन्द्र बनाने, विभिन्न गांवों में गंदे व बरसाती पानी की निकासी, पेयजल आपूर्ति, यातायात सुविधा आदि मांगों को भी उपायुक्त ने माल लिया। इसके अलावा किसानों द्वारा 2 सप्ताह नहरों में पानी की मांग पर उन्होंने कहा कि यह मसला हाई लेवल का है और वह इसके लिए सरकार को लिख देंगे। किसान नेता मनदीप नथवान ने बताया कि उपायुक्त ने उनकी सभी जायज मांगों को मान लिया है। इसलिए पड़ाव हटाया जा रहा है और वह 10-15 दिन काम होने का इंतजार करेंगे। उन्होंने कहा कि अभी पड़ाव हटाया गया हे, लेकिन उनका आंदोलन जारी रहेगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static