झूठे साबित हुए सरकार के दावे, मंडियों में नहीं हो रहा किसानों की फसल का 72 घंटे में भुगतान: बजरंग गर्ग

punjabkesari.in Sunday, Apr 17, 2022 - 12:54 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : सरकार के गेहूं खरीद, उठान व भुगतान के सभी दावे फेल सिद्ध हुए हैं। यह बात हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड़ के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने अपने अनाज मंडी के दौरे के दौरान कही। बजरंग गर्ग ने कहा कि एफसीआई विभाग के अधिकारी सेवा शुल्क लेने के चक्कर में प्रदेश में गेहूं को गोदामों में उतारने में आनाकानी कर रहे हैं। काफी गेहूं की भरी हुई गाड़ियों को वापिस कर दिया है। जिसके कारण आढ़ती व किसानों को बड़ी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

बजरंग गर्ग ने कहा कि जबकि सरकार बार-बार गेहूं खरीद व तुरंत गेहूं उठान करने के साथ-साथ 72 घंटे में गेहूं खरीद के भुगतान का दावा कर रही है। जबकि हकीकत उससे कोसों दूर है। आज प्रदेश की मंडियां गेहूं से भरी हुई है, लाखों टन गेंहू मंडियों में पड़ा है ना तो गेहूं का समय पर उठान हो रहा है ना‌ ही 72 घंटे में गेहूं का भुगतान हो रहा है। गेहूं उठान व भुगतान के साथ-साथ एफसीआई के गोदामों में जो गेहूं नहीं उतार रहे ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सरकार को सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

एक तरफ तो किसानों पर कुदरत की मार दूसरी तरफ सरकार द्वारा किसान व आढ़तियों को बार-बार नाजायज तंग करने से प्रदेश के किसान व आढ़तियों में सरकार के प्रति बड़ी भारी नाराजगी है। बजरंग गर्ग ने कहा कि सरकार को अपने वादे के अनुसार किसान की गेहूं को तुरंत खरीद व 72 घंटे में भुगतान करना चाहिए मगर गेहूं खरीद का भुगतान जो लेट हो रहा है उसका ब्याज सहित किसानों का भुगतान सरकार करें और अनाज खरीद के लिए प्रदेश की मंडियों में हर प्रकार की मूलभूत सुविधा करनी चाहिए ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए मंडियों में आ रही दिक्कतों से राहत मिल सके।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static