पैट्रोल-डीजल वाहनों को इलैक्ट्रिक वाहन में परिवर्तन करने के लिए  पोलिसी बनाएगी सरकार

punjabkesari.in Saturday, Jun 05, 2021 - 05:04 PM (IST)

चंडीगढ़(चन्द्र शेखर धरणी): हरियाणा सरकार प्रदेश में इलैक्ट्रिक वाहनों के निर्माण व पैट्रोल-डीजल वाहनों को इलैक्ट्रिक वाहन में परिवर्तन करने के लिए एक पोलिसी बनाएगी, इसके लिए वाहन निर्माताओं व उद्योग क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों से विचार-विमर्श करके सुझाव आमंत्रित किए जाएंगे।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री  दुष्यंत चौटाला ने आज चंडीगढ़ में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता की और पोलिसी निर्माण को लेकर दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री विजयेंद्र कुमार, महानिदेशक श्री साकेत कुमार के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

डिप्टी सीएम, जिनके पास उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रभार भी है, ने बैठक के बाद बताया कि प्रदेश सरकार ने प्रदूषण का कारण बने डीजल-पैट्रोल के वाहनों की जगह पर्यावरण अनुकूल इलैक्ट्रिक वाहनों को प्रमोट करने के लिए नीति बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि नए इलैक्ट्रिक वाहनों की खरीद के अलावा मौजूदा वाहनों का भी समय पूरा होने पर उन्हेंं इलेक्ट्रिक वाहनों से बदला जाएगा। यह काम चरणबद्ध तरीके से पूरा होगा। वाहन चार्जिंग में कोई दिक्कत न आए, इसके लिए हर शहर के अलावा मुख्य सडक़ों पर भी जगह-जगह चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। पंचकूला में प्रदेश के पहले चार्जिंग स्टेशन के उद्घाटन से इसकी शुरुआत हो चुकी है। सरकारी दफ्तरों व बोर्ड-निगमों के अलावा प्राइवेट साइट्स पर भी चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे। हरियाणा सरकार सभी नए अपार्टमेंट, हाईराइज बिल्डिंग और टेक्नालोजी पार्क में वाहन चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने पर बल देगी। सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी के डिस्पोजल को लेकर विकसित होने वाली मार्केट को सरकार प्रोत्साहन देगी। इसी तरह क्लीन फ्यूल और अक्षय ऊर्जा आधारित चार्जिंग/बैटरी स्वैपिंग स्टेशन को प्रोत्साहित दिया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static