सब्जियों के बढ़ते दामों ने गृहणियों को कर दिया परेशान, प्याज व टमाटर भी पहुंच गए 80 के पार

10/23/2020 10:28:14 AM

गुडग़ांव : त्यौहारी सीजन में सब्जियों के दामों में लगातार वृद्धि होती जा रही है। प्याज व टमाटर भी 80 के पार पहुंच गए हैं। प्याज ने लोगों के आंसू निकालने शुरु कर दिए हैं। एक सप्ताह पूर्व जहां प्याज 40 रुपए किलो मिल रहा था, वहीं अब 70 को पार कर गया है। यही हाल टमाटर का भी है। टमाटर भी 80 रुपए प्रतिकिलो की दर पर मिल रहा है। नवरात्र चल रहे हैं। श्रद्धालु आलू का अधिक इस्तेमाल करते हैं, लेकिन आलू के दामों में भी लगातार वृद्धि होती जा रही है। आलू भी 50 रुपए प्रतिकिलो की दर से बिक रहा है, जिससे गृहणियों की रसोई का बजट बिगडऩा शुरु हो गया है। 

आमतौर पर सर्दी की शुरुआत में आलू की नई फसल आ जाने से आलू की दर कम हो जाती थी, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो रहा है। क्योंकि लॉकडाउन के कारण किसानों ने आलू की फसल देर से लगाई थी जिसके कारण बाजार में अभी नया आलू नहीं आया है। इससे आलू महंगे दामों में बिक रहा है। आढ़तियों का कहना है कि त्यौहारी और शादियों के सीजन में सब्जियों के दाम और भी अधिक बढऩे की संभावना है। प्रदेश के अधिकांश जिलों में महाराष्ट्र के नासिक से प्याज की अधिक सप्लाई होती है, लेकिन नासिक में प्याज के जमाखोरों पर आयकर विभाग की कार्यवाही की जा रही है। इससे वहां के आढ़ती नाराज हैं और उन्होंने हरियाणा प्रदेश को आने वाली प्याज की सप्लाई रोक दी है। 

हालांकि हरियाणा में मध्यप्रदेश के इंदौर की मंडी से प्याज की आपूर्ति कराने की तैयारियों में आढ़ती जुटे हैं। गौरतलब है कि एक पखवाड़ा पूर्व 50 रुपए बिकने वाला टमाटर अब बढ़कर 80 रुपए किलो, फूल गोभी 35 से बढ़कर 50 रुपए और इसी प्रकार घीया भी 50 रुपए किलो मिल रहा है। तोरई भी 35 से बढ़कर 60 रुपए किलो तक पहुंच गई है। 20 रुपए किलो में बिकने वाला पेठा अब 30 रुपए प्रतिकिलो में मिल रहा है। भिण्डी, बैंगन, खीरा आदि के भी रेट बढ़ गए हैं। ये भी 60-65 रुपए प्रतिकिलो मिल रहे हैं। सब्जियों की बढ़ती कीमतों से गृहणियां बड़ी परेशान हैं। उनका कहना है कि जिला प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए। जहां वे अब तक कोरोना से परेशान थी, वहीं अब सब्जियों ने भी परेशान करना शुरु कर दिया है। 
 


Manisha rana

Related News