नहीं होने दिया जाएगा हाईवे जाम, ना ही होगा जिला सचिवालय का घेराव: करनाल प्रशासन

punjabkesari.in Monday, Sep 06, 2021 - 05:49 PM (IST)

करनाल (विकास मेहला): करनाल के एसपी गंगाराम पुनिया और उपायुक्त निशांत यादव ने 7 सितंबर को होने वाली किसान महापंचायत को लेकर जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने के मुद्दे को लेकर मीडिया से रूबरू हुए। करनाल के उपायुक्त ने अपील की है कि आम जनता से कि अगर जरूरी नहीं है तो हाईवे पर ना निकलें, हालांकि प्रशासन की तरफ से एहतियात के मद्देनजर दिल्ली से चंडीगढ़ और चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले रुट को डाइवर्ट कर दिया है। 

वहीं इंटरनेट सेवा को फिलहाल आज रात से 24 घंटे के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है। प्रशासन की तरफ से पुलिस फोर्स की 40 कम्पनियां तैनात की जाएगी, जिसमें पुलिस के साथ-साथ पैरामिलिट्री फोर्स भी तैनात होगी, अलग-अलग जिले के 5 आईपीएस और पुलिस बल भी बुलाया गया है। 

प्रशासन ने साफ कह दिया है कि ना ही हाईवे को जाम होने दिया जाएगा और ना ही जिला सचिवालय का घेराव करने दिया जाएगा। अगर किसान शांतिपूर्ण एक जगह पर प्रदर्शन करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। ऐसे में प्रशासन की तरफ से ये भी कहा गया है कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अलग-अलग जगह शहर में बैरिकेडिंग, डंपर भी लगाए जा सकते हैं। 

करनाल जिला सचिवलय सेक्टर-12 में पड़ता है, वहां कई प्राइवेट ऑफिस भी हैं। ऐसे में प्रशासन ने कहा है कि किसी को परेशानी नहीं होने नहीं दी जाएगी और अगर कोई जरूरी काम नहीं है तो ऑफिस बंद रखे जा सकते हैं। प्रशासन ने बताया कि किसान नेता आए थे बातचीत के लिए पर बातचीत में हल नहीं निकला। वहीं धारा 144 लगी हुई है ऐसे में कल करनाल में तनाव रह सकता है। 
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static