होली के नशे ने 43 को पहुंचाया अस्पताल, 31 लड़ाई झगड़े जबकि हुई 12 सड़क दुर्घटना

punjabkesari.in Sunday, Mar 20, 2022 - 09:10 AM (IST)

गुडग़ांव : कोरोना पाबंदियों में खुली छूट मिलने से इस बार होली हुड़दंग सिर चढ़कर बोला। होली के दिन सिविल अस्पताल में मापीट व दुर्घटनाओं के कुल 43 मरीज अस्पताल पहुंचे। जिसमें 31 लड़ाई झगड़े के जबकि 12 सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। अधिक गंभीर मरीजों को दिल्ली रैफर कर दिया गया जबकि सामान्य घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद उन्हे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक लड़ाई झगड़ों के मामलों में घायलों की एमएलसी काट कर पुलिस को प्राथमिक सूचना दे दी गई। ज्यादातर घायलों को इलाज के बाद कुछ ही देर में अस्पताल से छुट्टी मिल गई। जबकि कुछ को भर्ती किया गया।

अस्पताल इर्मेजेंसी से मिली जानकारी के मुताबिकहोली के दिन सुबह से लेकर रात तक 109 मरीज इलाज के लिए पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि इनमें से 31 मरीज लड़ाई झगड़े के मामलों में घायल होकर आए थे। जिनकी एमएलसी काटी गई। इसके अलावा 12 मरीज सड़क दुर्घटनाओं में घायल होकर आए थे। इनमें से कुछ को प्राथमिक उपचार बाद छुट्टी दे दी गई थी। जबकि कुछ दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल रैफर करना पड़ा। ज्ञात हो कि होली के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर था। इमरजेंसी वार्ड में प्रत्येक शिफ्ट में दो दो डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई गई थी। जबकि सुविधा के लिए अतिरिक्त मेडिकल स्टाफ  तैनात किया गया था। 

अस्पताल खुला तो उमड़े मरीज: होली की छुट्टी बाद शनिवार को फिर से अस्पताल खुला। होली के दिन ओपीडी सेवा बंद रहने की वजह से जिन मरीजों को इलाज नहीं मिल पाया था। वो शनिवार को अपना इलाज कराने पहुंचे। इसके चलते शनिवार को अस्पताल में मरीजों की काफी भीड़ रही। पंजीकरण काउंटर से लेकर लेकर ओपीडी में भी मरीजों का दबाव रहा। जांच केंद्रों पर भी मरीज कतारों में अपनी बारी का इंतजार करते दिखे। घंटों इंतजार के बाद ही शनिवार को मरीजों को नागरिक अस्पताल में इलाज मिल पाया।

होली के बाद शनिवार को अस्पताल में सबसे ज्यादा भीड़ मेडिसिन, चर्म रोग व आंखों की ओपीडी में रही। रंगों की वजह से कई लोगों को त्वचा पर एलर्जी हो गई थी। लाल दाने निकलने और खुजली की शिकायत के साथ एक दर्जन मरीज शनिवार को चर्म रोड की ओपीडी में पहुंचे थे। इसके अलावा रंग की वजह से आखों में जलन की शिकायत के साथ भी काफी मरीज आंखों की ओपीडी में डॉक्टर से जांच कराने के लिए आए थे। जबकि सांस में दिक्कत, खांसी, जुकाम, बुखार आदि की शिकायतों मरीजों में देखी गई।  शनिवार को एक्सरे व अल्ट्रासाउंड के लिए टोकन बांटे गए। जिनकों टोकन मिला केवल उन्ही की जांच हो पाई। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static