अवैध व नकली शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़, 4 नाबालिग सहित 6 युवक काबू

punjabkesari.in Saturday, Oct 30, 2021 - 08:09 PM (IST)

रोहतक (दीपक भारद्वाज): आबकारी विभाग व रोहतक पुलिस ने महम में अवैध व नकली शराब बनाने की फैक्ट्री का खुलासा किया है। फैक्ट्री से 25344 पव्वे व 1716 बोतल अवैध व नकली शराब बरामद हुई है, जिसकी स्थानीय बाजार में कीमत करीब 25 लाख रुपये है। इसके अलावा 13000 लीटर स्पिरिट, जिसकी कीमत करीब 15 लाख रुपये है। मौके से नकली शराब बनाने की मशीने व अन्य सामान बरामद हुआ है। मौके से 4 नाबालिग सहित 6 युवकों को काबू किया गया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। 

दरअसल, जींद की सीआईए टीम को यहां एक बदमाश के छिपे होने की सूचना मिली थी, जब जींद सीआईए की टीम सूचना पर यहां रेड करने आई वह अपराधी तो नहीं मिला मगर यह अवैध नकली शराब की फैक्ट्री मिली। उसके बाद पुलिस व आबकारी विभाग को सूचना दी गई। आरओ पानी की फैक्ट्री की आड़ में यह अवैध नकली शराब बना रहे थे।

इस बारे ड्रग्स इंस्पेक्टर ने बताया कि पुलिस महम हिसार बाईपास रोड़ पर स्थित शेरे पंजाब ढाबा के पीछे प्लाट में शैड बनाकर आर.ओ. प्लांट की आड़ में अवैध रूप से शराब बनाने की फैक्ट्री लगा रखी है। इस आरओ पानी की फैक्ट्री की आड़ में अवैध नकली शराब बनाई जा रही थी। कई सालों से यह पुलिस की चकमा देकर करोड़ों रूपये की नकली शराब बनाई व सप्लाई की जा रही थी। कुछ लोग अवैध रूप से जहरीली व नकली शराब बनाने का कार्य कर रहे थे। 

तलाशी लेने पर प्लांट से प्लास्टिक के पव्वा शराब की कुल 528 पेटी है, जो 154 पेटियों में पव्वो पर रोमियो का लेबल लगा हुआ है व 374 पेटियों के पव्वो पर कोई लेबल नहीं है। 143 गत्ता पेटियों में प्लास्टिक की बोतल शराब बिना लेबल के भरी हुई है, जो कुल 1716 बोतल है। खाली प्लास्टिक की 880 बोतलें, 81660 पव्वे, 5120 गत्ता बंडल, 12 ढक्कन की पेटी, लेबल रेस स्टीकर 23535, नकली शराब बनाने व पैकिंग करने का एक आर.ओ. पलांट सिस्टम, शराब बनाने की 1 बोटलींग मशीन, एक चैन मशीन, एक मिक्सर मोटर, एक प्रैशर पम्प, दो सिलिंग मशीन, एक कैन जिसमें 20 लीटर फ्लेवर भरा हुआ है, 2 ड्रायर मशीन, एक पानी की मोटर, दो प्लास्टिक पाइप तथा एक बडी टंकी सफेद रंग प्लास्टिक 5000 लीटर खाली, एक टैंक स्टील, एक टंकी 1000 लीटर जिसके अंदर नकली शऱाब 500 लीटर भरी हुई है। 

इसके अलावा 2 टंकी 2-2 हजार की व एक टंकी 5000 लीटर मिली, 5 टंकी 5-5 हजार लीटर की मिली, जिनको चैक किया तो लगभग 13000 लीटर स्पिरिट इएनवी भरी हुई मिली। जो नकली, मिलावटी व जहरीली शराब बनाने व बिना लाइसेंस/परमीट के नकली स्टीकर लगाकर शराब बेचने, राजस्व विभाग को आर्थिक नुकसान पहुंचाया। प्लाट दलेल बाबा निवासी महम के नाम पर है, जिसने किराये पर राकेश निवासी हिसार को दे रखा है। प्लाट में आर.ओ. वाटर के नाम पर नकली शराब बनाई जा रही है। करीब डेढ़ महीने से अवैध शराब बनाने का कार्य चल रहा है। 

फैक्ट्री चलाने में राकेश के साथ उसका दोस्त धर्मेन्द्र, विशाल व अन्य व्यक्ति भी शामिल है। शराब बनाने के लिए स्पिरिट कहां से आती है तथा नकली शराब कहां बेची जाती है बारे गहनता से जांच की जा रही है। आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए निरंतर छापेमारी की जा रही है। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static