बड़ी खबर: संयुक्त किसान मोर्चा की महत्वपूर्ण बैठक, दो जत्थे इस दिन करेंगे दिल्ली कूच

punjabkesari.in Tuesday, Nov 09, 2021 - 08:43 PM (IST)

सोनीपत (पवन राठी): कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली सीमाओं पर चल रहे आंदोलन को एक साल पूरा होने वाला है। जिसको लेकर आज संसयुक्त किसान मोर्चा की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि आंदोलन स्थल पर किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी और 29 नवंबर को 500-500 किसानों के जत्थों में संसद कूच किया जाएगा। हालांकि इस बैठक के दौरान 26 नवंबर को ही चढूनी के नेतृत्व में दिल्ली कूच किए जाने की मांग को लेकर हूटिंग हुई। वहीं बैठक के बाद निकलते समय गुरनाम चढूनी नाराज दिखे और मीडिया से बात नहीं की।

PunjabKesari, Haryana

दो जत्थे रवाना होंगे, जो संसद का घेराव करेंगे
वहीं बैठक की जानकारी देते हुए किसान नेता अवतार सिंह, जगजीत सिंह डल्लेवाल ने बताया कि आज की बैठक में देरी होने के कारण बैठक को जल्दी खत्म कर दिया गया। जल्द अगली मीटिंग बुलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि 26 नवंबर दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन में किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी और 29 नवंबर को शुरू होने वाले सत्र के साथ ही टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर से किसानों के 500-500 के दो जत्थे रवाना होंगे, जो संसद का घेराव करेंगे। उन्होंने बताया कि जहां इनको रोका जाएगा वहीं पर बैठकर विरोध किया जाएगा। हालांकि दोनों किसान नेता अन्य एजेंडो पर मीडिया के सवालों से बचते हुए नजर आए।

PunjabKesari, Haryana

25 एजेंडों में से केवल दो पर ही बनी सहमति
गौरतलब है कि आज किसानों की इस बैठक में किसान आंदोलन को तेज करने के लिए 25 एजेंडे रखे गए लेकिन केवल दो ही एजेंडो पर बात हुई। सूत्रों के अनुसार मीटिंग में हरियाणा के संगठनों ने दिल्ली कूच को लेकर प्रस्ताव रखा लेकिन संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने केवल टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर से ही 500-500 किसानों के जत्थे रवाना करने की पेशकश की, जिस पर सहमति बन गई। 

बैठक के दौरान हुई हूटिंग
वहीं बैठक के बाद किसान नेता गुरनाम सिंह की नाराजगी उनके चेहरे पर साफ दिखी। वहीं मीटिंग के दौरान किसान नेता राकेश टिकैत एक निजी चैनल को इंटरव्यू देने बाहर आए तो हरियाणा के संगठनों ने इसका पुरजोर विरोध किया और दिल्ली कूच के नारे लगाए। राकेश टिकैत और गुरनाम सिंह चढूनी ने बाहर नारेबाजी कर रहे किसानों को समझाया।

पंजाब चुनाव लडऩे का मेरा मूड नहीं: चढूनी
हालांकि गुरनाम सिंह चढूनी बैठक से पहले कहा कि उन्होंने कहा कि दिवाली मना कर किसान अब मोर्चों पर लौट रहे हैं। दोबारा से मोर्चों पर किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी। वहीं किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि हर पहलू पर हर मुद्दे पर चर्चा की जाएगी और मेरे पंजाब चुनाव लडऩे का कोई मूड नहीं है जो भी यह चर्चा चला रहा है बकवास है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static