दिल्ली कूच के लिए निकला किसानों का जत्था पहुंचा करमन बार्डर, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

12/3/2020 5:06:10 PM

होडल (मधुसूदन): किसान आंदोलन को लेकर दिल्ली की तरफ जाने वाले किसानों की भीड़ को लेकर पुलिस प्रशासन को कड़ा पसीना बहाना पड़ा। उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश और राजस्थान के हजारों किसान ट्रैक्टरों व अन्य वाहनों में सवार होकर बृहस्पतिवार को दिन निकलते ही राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित करमन बार्डर पहुंचने शुरु हो गए। हालांकि किसान आंदोलन को लेकर स्थानीय पुलिस प्रशासन पहले से ही सतर्क था और उक्त बार्डर पर दिल्ली कूच को लेकर किसी भी चहलकदमी नहीं थी, लेकिन बृहस्पतिवार को यूपी की तरफ से अचानक सैकड़ों ट्रैक्टरों व अन्य वाहनों में सवार होकर पहुंचे किसानों को देखते ही वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने अपने आला अधिकारियों को अवगत कराया। जिसके बाद डीएसपी होडल बलवीर सिंह व डीएसपी हथीन भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। 

पुलिस अधिकारियों ने किसानों को समझाने और उन्हें रोकने का प्रयास किया लेकिन किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच के लिए डटे रहे। बार्डर पर किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल भी बुलाया गया। पीछे से आ रहे किसानों के जत्थे में कोसीकला से भारतीय किसान यूनियन के भी सैकड़ों सदस्य शामिल हो गए और दिल्ली कूच की मांग पर अड़े रहे। पुलिस अधिकारी किसानों को आगे बढऩे से रोकते रहे और किसान भी जगह जगह राजमार्ग पर ही धरना देकर बैठते रहे। 

इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच किसी प्रकार संघर्ष की नौबत नहीं आई। राजमार्ग स्थित उझीना डे्रन के निकट किसानों का जत्थ पहुंचते ही पुलिस अधिकारियों ने बस व ट्रकों को रुकवाकर राजमार्ग पर खड़े कर किसानों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन उसके बावजूद भी पुलिस प्रशासन के सभी प्रयास असफल साबित होते रहे।

किसानों के जत्थे को रोकने के लिए राजमार्ग पर आड़े तिरछे खड़े किए ट्रक
किसानों के जत्थे को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन को करमन बार्डर से डबचिक चौक तक आधा दर्जन जगहों पर ट्रैकों को आड़े तिरछा करके खड़ा किया गया, लेकिन पुलिस प्रशासन किसानों के जत्थे को रोक नहीं सका। यहां किसानों का कहना था कि वह दिल्ली पहुंच कर रहेंगे और सरकार से अपनी मांगों को मनवा कर रहेंगे। किसान अपनी मांगों को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे और पुलिसकर्मी मूक दर्शक बने रहे। करमन बार्डर के निकट पुलिस कर्मचारियों ने किसानों के जत्थे को रोकने के लिए बस, कैंटर, ट्रक व अन्य वाहनों को आड़े-तिरछे करके खड़ा कर दिया, लेकिन किसान भी बड़े संयम और धैर्य के साथ राजमार्ग के बीच बने डिवाईरों पर वाहनों को चढ़ाकर निकलते रहे। कई जगह पर पुलिस द्वारा खड़े किए गए वाहनों को भी किसानों ने उठा उठाकर साईड में लगा दिया।


Shivam

Related News