कुंडू ने पूर्व मंत्री ग्रोवर को फिर घेरा, शुगर मिलों में करोड़ों के घोटाले का लगाया आरोप

punjabkesari.in Thursday, Feb 13, 2020 - 10:04 AM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): रोहतक निगम में घोटाले की शिकायत दे चुके महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने अब पानीपत, रोहतक, करनाल, कैथल आदि शुगर मिलों में 3300 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया है। इसके लिए उन्होंने फिर पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर को जिम्मेदार ठहराया है। कुंडू ने सबूतों के साथ मंगलवार देर शाम सीएम मनोहर लाल को दस्तावेजों के साथ शिकायत दी। इस पर मुख्यमंत्री ने जांच का आश्वासन दिया है। 

बलराज कुंडू ने कहा कि महम कि शूगर मिल में एक वर्ष में 13 करोड़ का घाटा था जो बढ़कर 94 करोड़ तक पहुंच गया। इसके लिए तत्कालीन मंत्री मनीष ग्रोवर जिम्मेदार हैं। दस्तावेजों के आधार पर कुंडू ने दावा किया कि आहूजा बैरल के नाम से पूर्व मंत्री के नजदीकी की कंपनी है जिसे लाभ पहुंचाने के लिए 500 से 700 करोड़ का घोटाला किया गया। कैथल की शूगर मिल में चिप घोटाला किया गया ताकि गड़बड़ी पता न चल सके। इस बात के लिए जिन्होंने आवाज उठाई उन्हें दबा दिया या केस दर्ज कर लिए गए।

वहीं पानीपत व करनाल की शूगर मिल में सुधारीकरण हेतु जारी टैंडर में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए उन्हाेंने कहा कि जिस कंपनी ने टैक्नीकल व वित्तीय योग्यता पूरी कर ली थी उसकी बजाए दूसरी कंपनी को टैंडर दे दिया गया। पानीपत शूगर मिल में करीब 80 हजार क्विंटल शीरे की चोरी का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे बनी शराब को अवैध रूप से बाहर बेच दिया जबकि शीरे के संदर्भ में कोई रिकार्ड ही नहीं है। उन्होंने कहा कि क्या कारण है कि देश की अन्य चीनी मिलों की अपेक्षा हरियाणा की मिलों में गन्ने से चीनी की रिकवरी कम होती है,यह स्वयं में जांच का विषय है। 

उन्होंने कहा कि मंत्री के पारिवारिक लोगों के पास शराब की बोतलों की पैकेजिंग का ठेका है,जो संदेह उत्पन्न करता है कि कैसे ठेका दिया गया। उन्होंने कहा कि शराब की बोतल का जो वजन निर्धारित है,जांच की जाए तो कम मिलेगा। यह सब मिलीभगत से ही हो रहा है।

स्थानीय निकाय विभाग के घोटालों की जांच के लिए  गठित एस.आई.टी. पर उठाए सवाल
कुंडू ने स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज द्वारा घोटाले की जांच हेतु गठित एस.आई.टी. पर सवाल उठाते हुए कहा कि अधिकारियों द्वारा एस.आई.टी. की जांच को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है। एस.आई.टी. में अशोक खेमका जैसे अधिकारियों को शामिल किया जाना चाहिए। अब वह मामले को बजट सत्र में भी उठाएंगे। अगले महीने साक्ष्यों के साथ एक अधिकारी के कारनामों का खुलासा करेंगे जो सरकार चलाने में बहुत बड़ा रोल अदा कर रहे है। 

मुख्यमंत्री ने इंसाफ नहीं किया तो धरने पर बैठूंगा
कुंडू ने कहा कि घोटालों के दस्तावेज मुख्यमंत्री को सौंप दिए हैं। उन्होंने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। सी.एम. ने कार्रवाई नहीं की तो वह उनके घर के आगे टैंट लगाकर धरने पर बैठ जाएंगे। वह किसी केस से डरने वाले नहीं हैं, क्योंकि वह लोगों के हितों की लड़ाई लड़ रहे हैं।

विज से मिले कुंडू
कूंडू ने गृह एवं स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज से मुलाकात कर शूगर मिलों की अनियमितताओं व स्थाीनय निकाय विभाग के घोटाले के दस्तावेज सौंपे। मीडिया के सवाल पर विज ने कहा कि निकाय विभागों की शिकायत पर गठित एस.आई.टी.की जांच में खामियां सामने आईं तो नए सिरे से एस.आई.टी. का गठन कर जांच करवाई जाएगी। एस.आई.टी. में शामिल अफसर ठीक हैं और जांच सही दिशा में चल रही है। उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी विधायक अपनी किसी भी तरह की शिकायत देता है तो उसकी जांच करवाई जाएगी। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

vinod kumar

Related News

Recommended News

static