हिंदू-मुस्लिम एकता की पहचान बनी लाडो पंचायत

8/1/2021 8:40:48 PM

चंडीगढ़ (धरणी): लाडो पंचायत के जरिए उतर भारत में लड़कियों की शादी की उम्र 18 वर्ष से 21 वर्ष किए जाने की मांग लगातार जोर तो पकड़ ही रही है, उसके साथ ही हिंदु व मुस्लिम दोनों धर्मों की लड़कियों का सामंजस्य एक बेहतरीन उदाहरण प्रस्तुत कर रहा है। लाडो पंचायत के संयोजक सुनील जागलान ने बताया कि आज तीसरी ऑनलाइन लाडो पंचायत में मुस्लिम व हिंदु लड़कियों ने आज मिलकर एक दूसरे का साथ लेकर लड़कियों के बाल विवाह रोकने व शादी की उम्र 21 वर्ष किए जाने की बात पर सहमति जताई तो पंचायत को चार चांद लग गए।

लाडो पंचायत में अंजुम ने बताया कि किस तरह उनके मुस्लिम धर्म में पहला पिरियड आने पर लड़की को शादी के काबिल समझ लिया जाता है, पहले वो सिर्फ इन चीजों को देखती रहती थी, लेकिन सेल्फ़ी विद डॉटर की टीम लाडो की सदस्य बनने पर ना अपने परिवार और न ही अपने आस पास लड़की की कम उम्र में शादी नहीं होने देगी व कोशिश करेगी जब तक 21 उनके न हो शादी न की जा सके। 

प्रिया पांडेय ने मनोवैज्ञानिक पहलू बताते हुए कहा कि 18 की उम्र में लड़की मानसिक रूप से संघर्ष करती है और उसको काफी प्रकार के मनोवैज्ञानिक पहलुओं से गुजरना पड़ता है, जिस पर काफ़ी रिसर्च भी हो चुकी है। अंजु डागर ने बताया कि लड़कियों के पिता व भाइयों को भी अगली पंचायत में शामिल किया जाए, जिससे सरकार को सभी पहलू समझ आ जाए।

पूनम ने बताया कि किस तरह उनका बाल विवाह हुआ और 20 वर्ष की उम्र में 2 बच्चों की मां बन गई उसके सारे सपने घरवालों ने समाप्त कर दिए थे। आज उसका स्वास्थ्य समय से पहले शादी करने की वजह से बुरी स्थिति से गुजर रहा है, इसलिए अब समय आ गया है कि शादी की उम्र 21 वर्ष तो कम से कम होनी चाहिए। 

तनुश्री कालरा बिजनेस विमेन ने बताया कि जरियों मे हार्मोन असंतुलन व अन्य प्रकार के शारीरिक इन्फक्शन भी बढ़ते हैं।  लाडो पंचायत में लड़कियों ने दूसरे की मदद करने के अलावा आस-पास बाल विवाह को रोकने का कार्य करेगी। सुनील जागलान ने कहा कि शादी करने की उम्र घरवालों को समझाकर कम से कम 21 रखवाने की कोशिश करेंगे जब तक सवैंधानिक तौर पर यह उम्र 21 नहीं होती । 

सुनील जागलान पिछले एक दशक से महिला सशक्तिकरण के लिए कार्य कर रहे हैं जिनके काफी अभियान केन्द्र सरकार व राज्य सरकारें ने अपनाए हैं। सुनील जागलान लड़कियों की शादी की उम्र 21 वर्ष करवाने के लिए मिशन शुरू किए हुए हैं जिसमें वो गांव गांव जाकर भी लाडो पंचायत करवा रहे हैं। सुनील जागलान ने बताया कि वह लाडो पंचायत की पूरी रिपोर्ट बनाकर केन्द्र सरकार को भिजवाएंगे, जिससे जल्द लड़कियों के हो रहे शोषण पर रोक लग सके।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Recommended News

static