UP की धान को लेकर 3 मंडी आढ़तियों के लाइसेंस सस्पेंड, कल बंद रहेगी मंडी रहेगी

10/13/2020 3:54:13 PM

इंद्री(मैनपाल): मंडी में धान की आवक पूरे जोरों पर है, उठान न होने के कारण किसानों व आढ़तियों के लिए समस्या बन गई है। किसान मंडी में धान लेकर पहुंच रहे हैं, लेकिन धान उतारने की जगह न मिलने के कारण मंडी में ट्रैक्टर ट्रालीयों की लाइनें लगी हुई है। मंडी आढ़तियों की मिलीभगत से यह खेल हो रहा है। 

उत्तर प्रदेश से लगती सीमा के नजदीक की मंडियों में उत्तर प्रदेश से पीआर धान पहुंच रही है। देर रात एसडीएम सुमित सिहाग इंद्री ने 3 ट्रैक्टर ट्राली धान से लदी हुई इंद्री अनाज मंडी के अंदर पकड़ी जोकि उत्तर प्रदेश से आई हुई थी जिस पर कार्रवाई करते हुए एसडीएम सुमित सिहाग ने तीन मंडी आढ़तियों के लाइसेंस सस्पेंड किए हैं । ऐसा नहीं है यह कार्रवाई पहली बार हुई है,गेहूं के सीजन में भी इनमें से एक फर्म पर उत्तर प्रदेश की गेहूं को लेकर कार्रवाई की गई थी। जब इंद्री मंडी में यह हाल है, तो उत्तर प्रदेश से लगती कुंजपुरा, घीड़, बयाना, गढ़ी बीरबल अनाज मंडी में पीआर धान कितनी पहुंच रही होगी, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।उत्तर प्रदेश की धान का सीधा असर यहां के किसानों पर पड़ता है।

मंडी सचिव बलवान सिंह ने बताया कि अब तक 5.25 लाख क्विंटल धान की खरीद हो चुकी है और 3.25 लाख क्विंटल धान की लिफ्टिंग हो चुकी है।बाकी का माल मंडियों में पड़ा है। उन्होंने बताया कि इस समस्या को लेकर मंडी आढ़ती एसोसिएशन व खरीद एजेंसियों से बात करके बुधवार को मंडी बंद रखने का फैसला किया गया है। ताकि धान का उठान हो सके, मंडी प्रशासन व किसानों को किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। इसको लेकर मंडी आढ़तियों द्वारा किसानों को संदेश पहुंचा दिया गया है, कि कल धान की कटाई ना करें । सरकार द्वारा सख्त हिदायतें दी गई है, की मंडियों में उत्तर प्रदेश से किसी भी पी आर धान की एंट्री नहीं होगी। उसके बावजूद भी मंडियों में उत्तर प्रदेश से पीआर  धान पहुंच रही है।  


Isha

Related News