3 माह बाद खुले शॉपिंग मॉल्स के ताले, पहले दिन खुली इक्का-दुक्का दुकानें

7/2/2020 11:07:57 AM

फरीदाबाद (महावीर गोयल) : जिले में आखिर लगभग 3 माह के इंतजार के बाद आखिर शॉपिंग मॉल्स खुल ही गए परंतु पहले दिन मॉल में रौनक नजर नहीं आई। सुबह 9 बजे से सायं 8 बजे तक मॉल्स का समय निर्धारित किया गया है परंतु देर सायं तक भी मॉल में जहां अधिकतर दुकानें बंद रहीं। वहीं इक्का-दुक्का लोग ही मॉल का माहौल देखने पहुंचे। वहीं मॉल प्रबंधन ने पहले दिन स्टाफ के साथ मॉल में आने वाले लोगों से किस तरह कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करवाना है तथा स्टाफ की क्या ड्यूटी रहेगी, इसकी रिहर्सल की।

पहले से ही उम्मीद थी कि शुरुआत में ग्राहक कम होंगे, ऐसे में स्टाफ की संख्या भी काफी कम रही। फरीदाबाद में लगभग आधा दर्जन शॉपिंग मॉल्स हैं जिनमें एसआरएस, स्टेशन मॉल, सिटी मॉल, क्राउन प्लाजा, क्राउन इंटीरियर्स, ईएफ-3 आदि शामिल हैं। पहले दिन मॉल में अधिकतर दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखीं तथा जिन दुकानदारों ने दुकानें खोलीं, वे भी साफ-सफाई व कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करवाने के लिए तैयारियों में जुटे रहे। मॉल्स में प्रवेश से पूर्व जहां सैनीटाइजर स्टैंड लगाए गए हैं। 

वहीं प्रवेश के साथ ही सिक्योरिटी के साथ-साथ अब लोगों का तापमान भी किया जा रहा है। इसके अलावा मॉल में बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। हालांकि चालान को लेकर पहले दिन मॉल प्रबंधन तैयार नजर नहीं आया परंतु उनका कहना है कि एक-दो दिन में ये व्यवस्था भी शुरु कर दी जाएगी। जो भी व्यक्ति बिना मास्क के प्रवेश करेगा, उसका न केवल चालान होगा बल्कि उस मास्क भी दिए जाऐं। मॉल संचालकों को उम्मीद है कि जल्द ही ग्राहक मॉल की तरफ रुख करेंगे हालांकि वह यह भी मानते हैं कि शुरुआती तौर पर ग्राहकों को लुभाने के लिए डिस्काउंट भी देना पड़ सकता है। मॉल में 10 साल से छोटे बच्चे और 65 साल से अधिक उम्र के लोगों के आने की मनाही है। साथ ही साथ गर्भवती महिलाएं भी मॉल में फिलहाल नहीं आ सकेंगी।

वेट एंड वॉच पर रहे लोग
वहीं मॉल में पहले दिन लोगों की संख्या न के बराबर रही। इस संदर्भ में जब लोगों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि फिलहाल वे लगभग एक सप्ताह वेट एंड वॉच की स्थिति में चलेेंगे क्योंकि जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में लोग कोई रिस्क नहंीं लेना चाहते। मां-बाप अपने बच्चों को मॉल भेजने को तैयार नहीं हैं। वहीं बुजुर्गों और बच्चों के प्रवेश पर प्रतिबंध से भी काफी लोग ऐसे हैं जो मॉल में चाहकर भी नहीं जा सकते। ऐसे में यदि आने वाले दिनों में सब ठीक रहा, तो ही लोग मॉल्स का रुख करेंगे।


Edited By

Manisha rana

Related News