गीता प्राकट्य स्थली ज्योतिसर में 200 करोड़ की लागत से बनेगा महाभारत संग्रहालय: मनोहर लाल

punjabkesari.in Thursday, Dec 02, 2021 - 12:28 AM (IST)

कुरुक्षेत्र (रणदीप रोड़): धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का 2 दिसंबर से विधिवत शुभारंभ होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि गीता की प्राकट्य स्थली ज्योतिसर में 200 करोड़ की लागत से बनेगा महाभारत संग्रहालय बनेगा, जिसमें मामलों से जुड़ी समस्त जानकारी ऑडियो विजुअल माध्यम से दी जाएगी। इसके अलावा 48 कोस तीर्थ में 30 अन्य तीर्थो को शामिल कर इनकी संख्या 164 हो गई है।

कुरुक्षेत्र नगर के प्रमुख मार्गों पर स्वागत द्वार बनाने के साथ-साथ उन्होंने बताया कि ज्योतिसर में श्री कृष्ण के विराट स्वरूप (40 फुट प्रतिमा) का अनावरण भी किया जाएगा, जिसकी लागत लगभग 14 करोड़ आई है, उन्होंने कहा कि धर्मनगरी कुरुक्षेत्र को मथुरा में हरिद्वार से जुडऩे के लिए ट्रेंस भी चलाई जाएंगी। इसके अलावा उन्होंने यह भी जानकारी दी कि गीता जयंती समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ऑनलाइन जुड़ेंगे। साथ ही कार्यक्रम में आने वाले अति विशिष्ट व्यक्तियों में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला केंद्रीय मंत्री कृष्ण रेड्डी, धर्मेंद्र प्रधान व संत समाज से जुड़े स्वामी रामानुजाचार्य, स्वामी अवधेशानंद, स्वामी गुरु शरणानंद ,बाबा रामदेव के अलावा अनेक जानी-मानी हस्तियां शिरकत करेंगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि गीता एक धार्मिक ग्रंथ नहीं है बल्कि गीता सार जीवन संदेश की प्रेरणा देता है। गीता हर व्यक्ति को कुछ ना कुछ सिखाने की प्रेरणा देती है चाहे वह विद्यार्थी व किसानों सैनिक और व्यापक हो गीता का सार मानवता के लिए एक ऐसा अजर अमर संदेश है जो हजारों वर्ष पूर्व भी अपनी प्रासंगिकता रखता है। इस अवसर पर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद ने कहा कि गीता किसी जाति वर्ग वर्ग के लिए नहीं है अपितु विश्व बंधुत्व मानसिक शांति का संदेश देती है वर्तमान समय की आवश्यकता है।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static