खोरी में ध्वस्त किए गए 550 से अधिक मकान

7/23/2021 9:02:45 AM

फरीदाबाद: अरावली वन क्षेत्र में बसे गांव खोरी में तोडफ़ोड़ कार्रवाई लगातार जारी है। एक दिन की राहत के बाद गुरूवार को गांव में भारी संख्या में मकानों को किराया गया। निगम ने छह पोकलैंड और सात जेसीबी की सहायता से दिनभर में करीब 550 मकान ढहाये। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात रहा। दिल्ली पुलिस की ओर से लालकुआं क्षेत्र की सीमाओं को सील कर दिया गया। इसके साथ निगम की ओर से तोडफ़ोड़ कार्रवाई संबंधित रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को भेज दी है। इस मामले में 23 जुलाई को कोर्ट में सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने सात जून को आदेश जारी कर नगर निगम और हरियाणा सरकार को लकड़पुर गांव की राजस्व संपदा पर पर बसे खोरी गांव में तोडफ़ोड़ करने के आदेश जारी किए थे। 

कोर्ट का आदेश है कि जंगल की जमीन को फिर से जंगल में तब्दील किया जाए। इसके साथ ही बेघर होने वाले घरों के लिए पुर्नवास योजना लाई जाए। कोर्ट के आदेशों का पालन करते हुए नगर निगम द्वारा लगातार तोडफ़ोड़ की जा रही है। बुधवार को ईद होने के कारण निगम की ओर से कार्रवाई स्थगित कर दी गई थी। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिली थी। लेकिन, बृहस्पतिवार अल सुबह पुलिस ने दिल्ली लालकुआं चंगी नंबर 3 के क्षेत्र को सील कर दिया। गलियों में पुलिस का पहरा बिठा दिया गया। घरों में पुलिस की तैनाती कर दी गई। जैसे ही गांव में निगम का तोडफ़ोड़ दस्ता पहुंचा लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। लोगों के विरोध के बीच निगम ने कार्रवाई जारी रखी। छह घंटे चली कार्रवाई के दौरान टीम ने लगभग 550 मकान जमींदोज कर दिए।

बृहस्पतिवार को निगम की तोडफ़ोड़ के लिए बनाई गई नई रणनीति भी नजर आई। पहले जहां तोडफ़ोड़ की गई थी। इसके मलबे को साफ किया गया। बंगाली कॉलोनी की तरफ भारी पुलिस बल की तैनाती की गई। इसके साथ ही दिल्ली प्रहलादपुर क्षेत्र से गांव में प्रवेश करने वाले सभी इलाके बंद कर दिए गए। इसके बाद घेराबंदी कर तोडफ़ोड़ की कार्रवाई शुरू की गई।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static