Dry Day पर जमकर उड़ाई गई नियमों की धज्जियां, बंद शटर के नीचे से चोरी-छिपे बेची गई शराब

punjabkesari.in Monday, Aug 15, 2022 - 06:36 PM (IST)

रेवाड़ी(महेंद्र): सोमवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ड्राई-डे होने के बावजूद भी शराबियों को शराब खरीदने में कोई परेशानी नहीं हुई। आजादी के अमृत महोत्सव में शराब ठेकेदारों ने जमकर चांदी कूटी। प्रदेश के कई जिलों में शराब ठेकों द्वारा चोरी छुपे शराब बेची गई। ऐसा ही एक वीडियो रेवाड़ी के धारूहेड़ा कस्बा से भी सामने आया है, जहां एक दुकानदार नियमों को तांक पर रखकर शराब बेचता हुआ नजर आ रहा है।

 

सुबह ही दुकान में छिप कर बैठ गए थे शराब ठेकेदार

 

जानकारी के अनुसार शहर में सेक्टर-6 हाउसिंग बोर्ड के सामने खुले शराब के ठेके के कर्मचारी सुबह सवेरे ही ठेके के अंदर दाखिल हो गए और फिर पहले से बनाए गए चोर ठिकानों से शराब बेची गई। इसके अलावा कई ग्रामीण इलाकों में भी शराब ठेके पर इसी तरह शराब बेची गई। हालांकि आबकारी विभाग के अधिकारियों ने ठेकों को बंद करने का आदेश दिया हुआ था, लेकिन इसके बावजूद कमाई के चक्कर में शराब ठेकेदारों ने आदेशों की कोई परवाह नहीं की।

 

साल में 3 दिन बंद रहते हैं शराब के ठेके

 

हर साल स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और महात्मा गांधी के जन्मदिन के मौके पर प्रदेशभर में ड्राई-डे होता है। इन तीन दिनों में शराब ठेकों को पूर्णतया बंद रखा जाता है। लेकिन इस बार भी स्वतंत्रता दिवस पर विभाग के आदेश बेअसर दिखाई दिए। ग्रामीण इलाकों में तो शराब ठेकेदारों ने खुलेआम ही दुकान की दुकानें खुली रखी, जबकि कुछ जगहों पर ठेके के अंदर छिपकर शराब बेची गई।

 

ड्राई-डे के बावजूद फील्ड में नहीं होते अधिकारी

 

भले ही सरकार और प्रशासन की ओर से शराब ठेकों को ड्राई-डे पर बंद रखने का आदेश जारी किया जाता है। लेकिन इसके बावजूद ठेकों पर शराब बिकना आबकारी विभाग पर भी सवालियां निशान लगाता है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह होता है कि अधिकारी खुद फील्ड में नहीं होते। इस वजह से शराब के सौदागर दुकान का शटर डाउन कर धड़ल्ले से शराब बेचकर नियमों की धज्जियां उड़ाते हैं। यही वजह है कि ड्राई-डे होने के बावजूद भी ठेकेदारों को शराब बेचने में कोई हिचकिचाहट नहीं होती।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Gourav Chouhan

Related News

Recommended News

static