लूट मामले में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, चारों आरोपियों को किया गिरफ्तार

punjabkesari.in Wednesday, Aug 25, 2021 - 03:10 PM (IST)

सिरसा (सतनाम) : सिरसा के अरोड़वंश चौक के पास मंडी में एक दुकान से 21 अगस्त को हुई 2.50 लाख रुपये लूट की घटना को सिरसा पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से वारदात में इस्तेमाल की गई पिस्तौल को भी बरामद कर लिया है। वहीं पकडे गए आरोपियों की पहचान सचिन उर्फ नोनी पुत्र रघुनाथ वासी किर्ति नगर, महान उर्फ महाना पुत्र रोहताश वासी धिंगतानिया, अक्षय पुत्र रामस्वरूप वासी सुखसागर कालोनी बेगु रोड़ व दीपक उर्फ दीपू पुत्र मोहन लाल वासी सुखसागर कॉलोनी के रूप में हुई है। पुलिस का कहना है कि अभी लूट की राशि बरामद नहीं हुई है। 

डीएसपी आर्यन चौधरी ने बताया कि 21अगस्त को अनाज मण्डी क्षेत्र में अंकुश पुत्र रमेश जिन्दल वासी सिरसा से पिस्तौल के बल पर 2 लाख 51 हजार रूपये की हुई लूट मामले को जिला की सी.आई.ए.सिरसा पुलिस ने मात्र 72  घन्टों में सुलझाते हुए बड़ी कामयाबी हासिल की है। उन्होंने कहा की घटना को सुलझाने के लिए 3 टीम का गठन किया था। पुलिस पूछताछ में ये सामने आया है कि कुछ दिन पहले सचिन उर्फ नोनी अपने दोस्त अक्षय व महान को बस अडडा सिरसा पर मिला । अक्षय ऑटो चलाने का काम करता है। सचिन ने अपने दोस्तों से कहा कि पैसों की बहुत जरूरत है। इसलिए कोई स्कीम लगानी पड़ेगी।

आरोपी सचिन ने कहा कि मैं एक ऐसे बन्दे को जानता हुँ जो हर रोज अपनी दुकान से घर और घर से दुकान पर 2/3 लाख रूपये अपने साथ लेकर जाता है। मैं तुम लोगों को दिखा सकता हुँ और हम मिलकर उस बन्दे से पैसे छिन सकते हैं। वारदात से एक दिन पहले सचिन उर्फ नोनी अपने दोस्त दीपू के साथ अक्षय और महान से बस अडडा सिरसा पर मिला और कहने लगा कि चलो मैं आपको वह दुकान दिखा देता हुं। अक्षय और महान को सचिन अपनी बाईक पर बैठा कर दुकान पर ले गया तथा खुद दुकान के बाहर रूक गया। अक्षय और महान दुकान के अन्दर सीमेंट का भाव पूछने के बहाने से रैकी करके तथा बन्दे की पहचान करके वापिस आ गए। दीपू ने योजना के अनुसार ऐसे ही किया। सचिन, अक्षय और महान के साथ बाइक पर दुकान पर पहुंचे।

महान और अक्षय दुकान के अंदर गए तथा सचिन बाइक पर दुकान के बाहर खड़ा रहा। अक्षय ने दुकान मालिक की कनपटी पर पिस्तौल लगाकर कहा कि ये पैसों का बैग हमें दे दो नहीं तो गोली मार देंगें और दुकान मालिक ने डर के कारण पैसों का बैग महान को दे दिया और तीनों बाईक पर सवार होकर मौका से फरार हो गए । जबकी चौथा आरोपी दीपू जो रैकी कर रहा था मौके से पैदल ही निकल गया। पकड़े गए आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमाण्ड हासिल किया जाएगा। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही और पूछताछ के दौरान अन्य अपराधिक वारदातों के बारे में खुलासा होने की सम्भावना से भी इन्कार नहीं किया जा सकता।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static