खत्म हुआ गदपुरी टोल पर लगा धरना, आज रात 12 बजे से शुरू होगी टोल की वसूली

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 08:24 PM (IST)

पलवल(दिनेश): नेशनल हाईवे नंबर 19 पर गांव गदपुरी के पास बनाए गए टोल प्लाजा को हटाने की मांग को लेकर पिछले 40 दिनों से टोल पर धरना दे रहे ग्रामीणों और टोल हटाओ संघर्ष समिति ने धरना खत्म कर दिया  है। टोल प्लाजा चलाने वाली कंपनी क्यूब ने समिति की मांगों को मान लिया है। टोल को आज से  सुचारू रूप से शुरू कर दिया जाएगा।

ग्रामीणों और कांग्रेस नेताओं ने टोल प्लाजा के खिलाफ खोला था मोर्चा

40 दिन पहले जब टोल पर वसूली शुरू होने वाली थी, तब आसपास के ग्रामीणों और कांग्रेस नेताओं ने इकट्ठा होकर टोल प्लाजा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। हरियाणा सरकार में मंत्री रहे करण सिंह दलाल एवं पृथला से पूर्व विधायक रघुवीर सिंह तेवतिया व पूर्व विधायक टेकचंद शर्मा ने इकट्ठा होकर टोल के खिलाफ धरने प्रदर्शन शुरू किए। धरना देने वाले नेताओं ने कहा कि टोल की इमारत गदपुरी गांव की पंचायती जमीन को कब्जा कर बनाई है, जिसके लिए पंचायत को किसी प्रकार का कोई मुआवजा नहीं दिया गया है। यह टोल राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के नियमों का भी पालन नहीं करता है, जिसको लेकर टोल हटाओ संघर्ष समिति का गठन किया गया और इस समिति ने हरियाणा और केंद्र के कई मंत्रियों और नेताओं से मुलाकात की। जहां एक तरफ टोल हटाओ संघर्ष समिति के लोग नेताओं और मंत्रियों से मिलते रहे, वहीं पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने इस मामले को लेकर जिला अदालत पलवल में एक याचिका दायर की थी। जिला अदालत में अभी भी यह मामला विचाराधीन है। 

टोल कंपनी और संघर्ष समिति के बीच एक दर्जन बैठक रही थी बेनतीजा

टोल हटाओ संघर्ष समिति और क्यूब कंपनी के अधिकारियों के बीच करीब एक दर्जन बार बैठकें हुई, लेकिन हर बार कोई नतीजा नहीं निकला। 26 जून को एक बार फिर से टोल प्लाजा पर महापंचायत बुलाई गई और कंपनी के अधिकारियों के साथ संघर्ष समिति के लोगों और नेताओं की बैठक हुई और यह बैठक भी बेनतीजा रही। इसके बाद  फिर से कंपनी के अधिकारियों के साथ नेताओं और समिति के सदस्यों की बैठक हुई और इस बैठक में दोनों के बीच निर्णायक सहमति बनी। 

इन मुद्दों को लेकर समिति और टोल संचालन कंपनी में बनी है सहमति

टोल से 20 किलोमीटर के दायरे में 315 रुपये की जगह अब 200 रुपये प्रति माह का पास बनाया जाएगा। गांव गदपुरी, पृथला, हरफली, डूंडसा, जटौटा और असावटी के वाहन पूरी तरह से फ्री होंगे। गदपुरी गांव के विकास के लिए जमीन अधिग्रहण होने से पहले 25 लाख रुपये का विकास कराएगी। गदपुरी ग्राम पंचायत की जमीन का एनएचएआई द्वारा अधिग्रहण किया जाएगा तथा उसका मुआवजा ग्राम पंचायत को मिलेगा। 

टोल संघर्ष समिति के संयोजक रतन सिंह सौरोत ने बताया कि बैठक में ग्राम पंचायत की जमीन का अधिग्रहण करने के उपरांत छह माह के अंदर मुआवजा देने। गांव में सीएसआर योजना के तहत विकास कराने तथा राजमार्ग पर बल्लभगढ़ रेलवे पुल को सिक्स लेन का बनाने के अलावा तीन और पुल बनाने पर सहमति बनी है। इसके अलावा गदपुरी टोल के पास स्थित आरोही स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए फुट ब्रिज बनाने का भी निर्णय हुआ है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static