किसानों का दिल्ली मार्च : अंतरराज्यीय सीमा पर सख्ती तेज, वाहनों का लंबा जाम लगा

11/26/2020 10:01:24 PM

सोनीपत, 26 नवंबर (भाषा) केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में कई राज्यों के किसानों के 26 और 27 नवंबर को ‘दिल्ली चलो’ मार्च को देखते हुए पुलिस ने अंतरराज्यीय सीमा पर सख्ती तेज कर दी है। किसानों को राजधानी में प्रवेश करने से रोकने के लिए सभी सीमाओं पर मंगलवार रात से ही जांच शुरू कर दी गई।


सोनीपत- दिल्ली (सिंघु) बॉर्डर पर अर्धसैनिक बलों की भी तैनाती की गई है। दिल्ली की सीमा से सटे प्रमुख मार्गों पर बैरिकेडिंग कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि किसानों को दिल्ली में प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी गई है।

रोहतक रेंज के एडीजीपी सह आईजी संदीप खरेवाल ने सोनीपत के पुलिस अधीक्षक के साथ दौरा कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। आईजी का कहना है कि किसी भी तरह किसानों को दिल्ली में नहीं जाने दिया जाएगा। पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है।


नए कृषि कानूनों का खिलाफ किसानों के दिल्ली कूच को लेकर गन्नौर- समालखा के बीच हलदाना बॉर्डर पर पुलिस द्वारा काफी सख्ती बरती जा रही है। वहीं पानीपत से दिल्ली की तरफ जाने वाले वाहनों के आवागमन पर रोक लगाई गई है। हलदाना बॉर्डर और सिंधु बॉर्डर पर बीएसएफ और हरियाणा पुलिस के जवान भारी संख्या में तैनात हैं।

हरियाणा- दिल्ली के सिंधु बॉर्डर पर वाहनों के आवागमन के लिए दोनों तरफ से एक-एक कर वाहनों को निकाला जा रहा है, जिस कारण वाहनों का लंबा जाम लगा है। बड़े वाहनों के जाने पर रोक लगा दी गयी है जबकि छोटे वाहनों को जांच के बाद जाने दिया जा रहा है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News