हरियाणा के इन जिलों में लगी धारा- 144, कल होगा हरियाणा रोडवेज का चक्काजाम

11/25/2020 4:31:16 PM

ब्यूरो: केन्द्र सरकार के तीन कानूनों के खिलाफ किसानों का रोष हरियाणा पंजाब में भरपूर बना हुआ है। किसानों द्वारा किए दिल्ली कूच के ऐलान से शासन-प्रशासन के हाथ-पांव फूले हुए हैं। किसानों को किसी भी हाल में दिल्ली जाने से रोका जा रहा है, लेकिन किसानों ने भी यह तय कर रखा है कि वे हर हाल में दिल्ली पहुंचेंगे और केन्द्र के कानों तक अपनी बात पहुंचा कर ही रहेंगे। इधर किसानों को रोकने के लिए हरियाणा के कई जिलों में धारा- 144 तक लागू कर दी गई है, जिनमें जिला जींद, सिरसा, कैथल, फरीदाबाद, फतेहाबाद शामिल हैं। संभावना है कि दूसरे जिलों में भी धारा- 144 जल्द ही लागू कर दी जाए।

26 नवम्बर को होगा 2 घंटे का चक्का जाम
हरियाणा रोङवेज तालमेल कमेटी की संयुक्त बैठक आज जींद में सम्पन्न हुई। बैठक में तालमेल कमेटी के वरिष्ठ सदस्य ओमप्रकाश ग्रेवाल, नसीब जाखड़, आजाद गिल, पहल सिंह तंवर, जगदीप लाठर व दिनेश हुड्डा ने हिस्सा लिया। बैठक में वर्तमान हालात पर विस्तार से चर्चा करते हुए तथा कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है कि कर्मचारी व जनहित में केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर केन्द्र सरकार की निजीकरण व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 26 नवम्बर को होने वाली राष्ट्रव्यापी हड़ताल में हरियाणा रोङवेज के कर्मचारी पूर्ण हड़ताल करने की बजाय सुबह 11बजे से दोपहर 1बजे तक जोरदार प्रदर्शन करते हुए 2 घंटे रोङवेज का पूर्ण रूप से चक्का जाम करेंगे, जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

PunjabKesari, haryana

फरीदाबाद में तीन दिनों तक धारा- 144 लागू
किसान आंदोलन और कर्मचारी यूनियन के दिल्ली कूच के चलते फरीदाबाद में धारा 144 लागू कर दी गई है। डीएम यशपाल यादव ने जारी 25 से 27 नवंबर तक धारा- 144 लागू रखने के आदेश दिए हैं। इस दौरान 5 या उससे अधिक लोगों के एक साथ जमा होने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। वहीं किसी भी स्थिति से निपटने के लिए ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं और पुलिस को भी अलर्ट पर रखा गया है व बदरपुर बॉर्डर पर चौकसी बढ़ाई गई है।

पंजाब के किसानों को हरियाणा में नो एंट्री
किसान आंदोलन को देखते हुए जींद जिले में भी धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि किसी भी सूरत में पंजाब के किसानों को हरियाणा में नहीं घुसने दिया जाएगा। पुलिस के पास हर तरह की फोर्स जैसे रैपिड एक्शन फोर्स, हरियाणा पुलिस और अन्य फोर्स मौजूद हैं। पुलिस ने पंजाब के किसानों को रोकने के लिए हरियाणा-पंजाब बार्डर पर नाकाबंदी शुरु कर दी है।

वहीं डीसी आदित्य दहिया ने बताया कि कानून तोडऩे वालों से सख्ती से निपटा जाएगा, जिसके लिए एक्स्ट्रा पुलिस फोर्स भी बुलाई गई है। 30 से अधिक खुफिया पुलिस निपटने की लिए तैयार है। डीसी ने जिलावासियों से जिले से बाहर न जाने की अपील करते हुए कहा कि अगले दी तीन दिन बाहर निकलने से बचें। पंजाब से लगती सीमाओं को पूरी तरह से सील कर दिया है। 

इसके अलावा कैथल व फतेहाबाद में भी किसान आंदोलन को देखते हुए धारा 144 लगाई गई है। कैथल के डीसी नरहरि सिंह बांगड़ ने आदेश जारी कर दिए हैं। पंजाब से सटी जिले की सीमाओं को सील किया गया है। डीसी और आईजी ने पंजाब सीमावर्ती इलाकों का दौरा भी किया है।


Shivam

Related News