Sonipat : रिश्वत की राशि लेकर भागे एसआई ने किया सरेंडर, मौके से हो गया था फरार

punjabkesari.in Saturday, Jun 03, 2023 - 12:10 PM (IST)

सोनीपत (ब्यूरो) : शिकायतकर्ता को ही क्रॉस केस में फंसाने की धमकी देकर 1 लाख रुपए रिश्वत ऐंठने के आरोपी सब-इंस्पैक्टर ने 90 दिनों के बाद अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। आरोपी ने ए.सी.जे.एम. शिखा की अदालत में आत्मसमर्पण किया। आरोप था कि एस.आई. विजिलेंस के आने पर रिश्वत की राशि लेकर कार में सवार होकर भाग निकला था। पानीपत विजिलेंस की टीम एस. आई. को पकड़ने पहुंची थी।

विजिलेंस पानीपत के इंस्पैक्टर सुमित कुमार ने 28 फरवरी को बताया था कि गांव सेरसा निवासी संदीप ने 3 फरवरी को कुंडली थाना में शिकायत दी थी कि वह दुकान से कार में सवार होकर घर के लिए निकला था। जब वह गांव के रास्ते पर पहुंचे तो सामने से गांव का ही जितेंद्र उर्फ मोनू बाइक पर सवार होकर आ रहा था। इसी दौरान कार बाइक से छू गई थी। जितेंद्र ने पुरानी रंजिश के चलते पिस्तौल निकालकर उन पर गोली चला दी थी। गोली पेट से आर-पार हो गई थी। उसके दोस्त ने उसे घायलावस्था में नरेला के अस्पताल में दाखिल करवाया था। वहीं पुलिस ने मुकद्दमा दर्ज कर लिया था। मामले की जांच कुंडली थाना के जांच अधिकारी सुरेंद्र कर रहे थे। पीड़ित पक्ष का आरोप था कि सुरेंद्र उन पर क्रॉस केस दर्ज करने का दबाव बना रहा था। उसने एक लाख रुपए मांगे थे। संदीप अपने मामा के साथ पैसे देने सोनीपत आया था। साथ ही पानीपत की विजिलेंस टीम भी पहुंची थी।

इंस्पेक्टर सुमित ने बताया था कि जब संदीप के मामा ने सुरेंद्र को रिश्वत के एक लाख रुपए दिए थे तो वह उसे पकड़ने जाने लगे थे। इसी दौरान वह राशि लेकर कार में सवार होकर भाग निकला। अब आरोपी ने ए.सी.जे.एम. की अदालत में आत्मसमर्पण किया है। पानीपत विजिलेंस की टीम ने आरोपी को अदालत से 3 दिन के रिमांड पर लिया है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)       


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static