बस में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, जींद के सरकारी अस्पताल में नहीं मिल सका था उपचार

punjabkesari.in Thursday, Apr 28, 2022 - 10:21 AM (IST)

जींद: स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिलने के कारण मूलरूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली 23 वर्षीय रोशनी की हरियाणा रोडवेज की बस में डिलीवरी हो गई। बस चालक ने जच्चा-बच्चा को नागरिक अस्पताल पहुंचाया। नवजात बच्चे का वजन 2.7 किलोग्राम है। फिलहाल जच्चा-बच्चा दोनों पूरी तरह स्वस्थ हैं।

मूलरूप से उत्तरप्रदेश के बांदा जिला के गांव तेरा निवासी भैरमदीन ने बताया कि वह पारिवारिक सदस्यों के साथ जींद जिला के खेमाखेड़ी गांव के पास सतीश ईंट भट्ठे पर काम करते हैं। वह अपनी पत्नी चंदा, बेटे कासी प्रसाद पुत्रवधू रोशनी के साथ वहीं पर रहते हैं। उनकी पुत्रवधू रोशनी गर्भवती थी। देर रात करीब 12 बजे उसे प्रसव पीड़ा शुरू हुई।


साधन का इंतजाम कर सुबह करीब पांच बजे जींद के सरकारी अस्पताल पहुंचे, जहां उपचार नहीं मिला। चिकित्सकों ने उन्हें हिसार के लिए रेफर कर दिया।   भैरमदीन ने बताया कि शहर पहुंचने से पहले पुत्रवधू ने बस के अंदर ही नवजात शिशु को जन्म दिया। उस समय उसकी सास और कुनबे की एक महिला पास में थी। बस चालक ने हमारी मदद की। वह बस को नागरिक अस्पताल में ले आया।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static