रक्षाबंधन के दिन गांव में पसरा सन्नाटा, तालाब के डूबने से तीन बेटियों की मौत

8/16/2019 8:55:19 AM

नूंह मेवात(ऐ के बघेल): अलवर राष्ट्रीय राजमार्ग 248 ए पर स्थित रेवासन गांव के तालाब में दोपहर बाद करीब तीन बजे खेलते समय एक बच्ची तालाब में गिर गई , जिसको बचाने के लिए वहीं पर खेल रही दो और बच्ची तालाब में कूद गई । लेकिन तीनों की जान इस घटना में चली गई । रेवासन गांव के लोगों को उस समय पता चला जब सबसे कम उम्र की लड़की पानी पर ऊपर तैरती हुई दिखाई दी । उसके बाद परिजनों व ग्रामीणों ने बाकि 2 लड़कियों की भी तलाश की जिनको कुछ देर बाद तालाब से ही मृत अवस्था में निकाला गया । हालांकि तीनों लड़कियों को राजकीय शहीद हसन खान मेवाती मेडिकल कॉलेज नलहड ले जाया गया , लेकिन डॉक्टरों ने तीनों बच्चियों को मृत घोषित कर दिया । पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सीएचसी नूंह भिजवाया जहां से उनका पंचनामा कराकर परिजनों के हवाले कर दिया गया । इस घटना के बाद रेवासन गांव में रक्षाबंधन के दिन सन्नाटा पसरा है ।

PunjabKesari

प्राप्त जानकारी के अनुसार दोपहर बाद अरुणा पुत्री अरशद उम्र 8 साल , सुबीना पुत्री शेर खान उम्र 8 साल के साथ सालीका पुत्री दीन मोहम्मद उम्र डेढ़ साल तालाब किनारे बनी एक झोपड़ी में खेल रही थी । उसी दौरान अरुणा तथा सुबीना का खेल में ध्यान होने की वजह से सालीका तालाब में गिर गई । उसे बचाने के लिए अरुणा तथा सुबिना ने तालाब में छलांग लगा दी , लेकिन उन्हें मालूम नहीं था की सालीका के साथ - साथ उनकी भी यह आखरी छलांग होगी । रेवासन गांव में जैसे ही घटना के बारे में पता चला तो वहां पर भारी भीड़ इकट्ठा हो गई और शवों को निकालने का सिलसिला शुरू हो गया । कुल मिलाकर भाई - बहन के सबसे प्यारे पर रक्षाबंधन के दिन अब तीन परिवारों को बहन का प्यार कभी नसीब नहीं हो सकेगा । रेवासन पुलिस ने मामले में 174 की कार्रवाई को अंजाम दिया है । तीनों बच्चियों के शव को देर शाम सुपुर्दे खाक किया गया। 

बरसात के दिनों में तालाब पानी से लबालब भरा हुआ है। इसके साथ - साथ कुछ दिनों पहले तालाब की खुदाई कर मछली पालन इत्यादि के लिए उसे गहरा किया गया था। जिसमें गिरते ही तीनों बच्चियों ने दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। देश रक्षाबंधन ओर स्वतंत्रता दिवस की खुशियों में डूबा हुआ था, लेकिन रेवासन गांव में इस खास मातम पसर गया।


Isha

Related News