आज प्रथम नवरात्रे पर छोटी काशी के मंदिरों में हुई शैल पुत्री की पूजा, जलाई गई आस्था की अखंड ज्योत

10/17/2020 10:31:27 AM

भिवानी (अशोक भारद्वाज) : छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध भिवानी शहर के विभिन्न देवी मंदिरों में आज प्रथम नवरात्रे पर श्रद्धालुओं ने शैल पुत्री माता की पूजा-अर्चना कर मनोकामना की। गौरतलब है कि छोटी काशी के देवी मंदिरों में लगातार 9 दिन तक पूजा-अर्चना रहेगी। भिवानी के देवसर धाम, भोजा वाला मंदिर, दुर्गा मंदिर, मां भगवती मंदिर, काली मंदिर सहित अनेक मंदिरों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा बड़ी जोर-शोर से की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक आज भिवानी के हनुमान जोहड़ी मंदिर स्थित देवी प्रतिमा के समक्ष पूजन दरबार सजाया गया और पहले नवरात्रे पर माता शैल पुत्री की पूजा की गई। इस अवसर पर व्रतधारियों ने अखंड ज्योत जलाकर मां का आर्शीवाद लिया। आज प्रथम नवरात्रे से मन्दिरों में इस बार कोविड 19 के चलते श्रद्धालओं की भीड़ नहीं उमड़ेगी, मंदिरों के द्वारा सरकार व जिला प्रशासन की गाइडलाइंस का भी ध्यान रखा जा रहा है। करीब 350 मंदिरों में पूजापाठ आज से शुरू हो गया है। 

श्रद्धालुओं ने बताया कि आज प्रथम दिन शैली माता का पूजन हुआ है। माता ने देवताओं को आर्शीवाद दिया है। उन्होंने कहा की भक्तों ने 9 दिन के व्रत रखे है और मन्दिर में 9 दिन तक वो अपनी मुरादों को पूर्ण करने के लिए अखण्ड ज्योत जलाते है। साथ में उन्होंने यह भी माता से अपील की है देश से कोविड 19 खत्म हो। हनुमान जोहड़ी मंदिर धाम के महंत चरण दास महाराज ने कहा कि आज नवरात्र का पहला दिन है और आज के दिन सभी मंदिरों में शैली माता की पूजा अर्चना की जा रही है।

महंत चरण दास महाराज ने कहा कि कोविड-19 के चलते मंदिरों में सभी सुरक्षा के पालन किए जा रहे हैं ,जो सरकार व जिला प्रशासन की गाइडलाइन है उसके मुताबिक मंदिरों में ध्यान रखा जा रहा है ।इसलिए उन्होंने लोगों से अपील की है कि मंदिर में जाते हैं तो सामाजिक दूरी का ध्यान रखें और अपने चेहरे पर मास्क लगाएं व सैनिटाइजर का प्रयोग करें और स्वच्छता कायम रखें।उन्होंंने कहा कि माता हर किसी की मनोकामना को पूर्ण करती है।  कहा कि नवरात्रो का महत्व तभी जब हम हर घरो मे बेटियो का सम्मान करेंगे। हमे बेटियों को सुरक्षा का माहौल देना चाहिए। यही देवी पूजा का सबसे बड़ा महत्व है। 


Manisha rana

Related News