जल जीवन मिशन के तहत 1 लाख 56 हजार 866 ग्रामीण घरों में दिए जा चुके हैं वैध कनैक्शन: डी.सी.

4/2/2021 11:36:51 AM

कैथल : डी.सी. सुजान सिंह ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण आंचल के 1 लाख 61 हजार 718 घरों में से 1 लाख 56 हजार 866 घरों में वैध कनैक्शन के माध्यम से पेयजल व्यवस्था की गई है। इसके साथ-साथ 268 पंचायतों के लिए पेयजल आपूर्ति व्यवस्था के एस्टिमेट भिजवाए गए हैंं। संबंधित विभाग इस संदर्भ में जल्द कार्य करें, ताकि हर घर में नल हो और हर नल में जल हो। डी.सी. लघु सचिवालय के कॉन्फ्रैंस हाल में जल जीवन मिशन, स्वामित्व योजना तथा ऑनलाइन जमाबंदी से संबंधित योजना के संदर्भ में अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से जिला में चल रही स्वामित्व योजना, जल जीवन मिशन, ऑनलाइन जमाबंदी व इंतकाल की फीडबैक ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

डी.सी. सुजान सिंह ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत जिला के 581 सरकारी स्कूलों तथा 1103 आंगनबाड़ी केंद्रों में पेयजल की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के तहत बैक्टिरिया की जांच हेतु 1900 फिल्ड टैस्टिंग किट बांटने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे शत-प्रतिशत पूरा किया गया। उन्होंने कहा कि 219 ग्राम पंचायतों ने पेयजल व्यवस्था के लिए सर्टिफिकेट भी दे दिए हैं। पानी जांच के लिए जिला में एन.ए.बी.एल. से प्रमाणित लैब कैथल में स्थापित की गई है, जिसमें 3 हजार सैंपल का टारगेट रखा गया था। इसे पूरा करते हुए 3200 पानी के सैंपल लेकर जांच की गई।

डी.सी. ने कहा कि जिले की ऑनलाइन जमाबंदी शत-प्रतिशत पूरी हो चुकी है, इसके साथ-साथ ऑनलाइन इंतकाल का कार्य भी सुचारू रूप से चल रहा है। स्वामित्व योजना के तहत 18 गांव लाल डोरा मुक्त किए जा चुके हैं, जिनमें 2582 लाभार्थियों को टाइटल डीड दी गई है। इसके साथ-साथ अन्य गांवों को लाल डोरा मुक्त करने की प्रक्रिया के तहत 247 गांवों में ड्रोन मैपिंग का कार्य किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जिला के सभी विभागाध्यक्ष अपने-अपने विभागों से संबंधित चल रहे कार्यों की प्रगति रिपोर्ट उपायुक्त कार्यालय में पहुंचाना सुनिश्चित करें, ताकि समय-समय पर संबंधित विभागों के साथ विभिन्न योजनाओं व परियोजनाओं की समीक्षा की जा सके।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल हर वीरवार को वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से विभिन्न विषयों पर समीक्षा बैठक लेंगे, इसलिए इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं होनी चाहिए। इस मौके पर एस.डी.एम. संजय कुमार व विरेंद्र ढुल, नगराधीश अमित कुमार, डी.आर.ओ. श्याम लाल, डी.डी.पी.ओ. जसविंद्र सिंह, अधीक्षक अभियंता राजीव खंडुजा, कार्यकारी अभियंता बनारसी दास, एम.एस. राणा, प्रशांत, कर्णवीर सिंह, डी.आई.ओ. दीपक खुराना, ए.डी.आई.ओ. राजीव शर्मा आदि मौजूद रहे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


Content Writer

Manisha rana

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static