सरकारी डॉक्टर की लापरवाही, गर्भवती महिला को निजी अस्पताल में इलाज करवाने को कहा

1/14/2020 4:28:15 PM

गोहाना (सुनील जिंदल): सरकारी अस्पताल में तैनात लेडी डॉक्टर द्वारा गर्भवती महिला मरीज के साथ गैरजिम्मेदार तरीके से व्यवहार करने का मामला सामने आया है, जिससे जींद के बाद अब गोहाना का सामान्य अस्पताल में सुर्खियों में आ गया है। यहां चार महीने की गर्भवती एक प्रवासी महिला का ईलाज करने के बजाए उसे प्राईवेट अस्पताल में इलाज करवाने के लिए कहा गया। वहीं जब यह मामला मीडिया के संज्ञान में आया तो उक्त लेडी डॉक्टर ने कुछ बोलने से मना कर दिया।

गर्भवती महिला को था पेटदर्द, ब्लीडिंग भी रही थी
PunjabKesari, Haryana

जानकारी के मुताबिक, ईंट के भट्टे पर काम करने वाली प्रवासी महिला मजदूर अपने परिजनों के साथ इलाज के लिए गोहाना के सिविल अस्पताल आई थी। परिजनों ने बताया कि महिला चार महीने की गर्भवती है, उसके पेट में दर्द था और ब्लीडिंग भी हो रही थी। अस्पताल में उसे अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए कहा गया तो सात नंबर कमरे में बैठी महिला डाक्टर कुसुम चहल ने पर्ची पर एक प्राइवेट अस्पताल का नाम लिख कर कहा कि हमारे यहां अल्ट्रासाउंड नहीं होता, इस अस्पताल में जाकर इलाज करवा लो।

कमीशन खोरी की आशंका
PunjabKesari, Haryana

सरकारी अस्पताल के डॉक्टर की ओर से मरीज को निजी अस्पताल में इलाज करवाने की सलाह देने का मामला उजागर होने के बाद कमीशनखोरी की आशंका साफ जाहिर होती है। सरकारी व निजी अस्पताल के डॉक्टरों की मिलीभगत से कमीशन के चक्कर में यह धंधा बड़े स्तर पर चल रहा हो। इस संभावना को नकारा नहीं जा सकता।

खानपुर पीजीआई रेफर करने का ऑप्शन
PunjabKesari, haryana

यदि कोई सरकारी अस्पताल मरीज को उचित इलाज मुहैया करवाने में असमर्थ होता है तो उसके पास यह ऑप्शन होता है कि मरीज को निकट के पीजीआई में रेफर किया जाए, लेकिन लेडी डॉक्टर ने ऐसा नहीं किया। जबकि गोहाना सरकारी अस्पताल में अगर अल्ट्रासाउंड या इलाज की सुविधा नहीं थी तो गर्भवती महिला मरीज को खानपुर पीजीआई में रेफर किया जा सकता था।

एसएमओ ने कहा कार्रवाई की जाएगी
वहीं इस मामले में महिला डॉक्टर से इस बारे में मीडिया ने जब बात करनी चाही तो डॉक्टर ने कैमरे के सामने बोलने से मना किया, हालांकि बाद में उन्होंने अपनी गलती स्वीकार करने की बात कही। इस मामले में गोहाना अस्पताल के एसएमओ ने कहा उनके संज्ञान में मामला नहीं है, अगर ऐसा है तो डॉक्टर के खिलाफ विभाग कार्रवाई की जाएगी।


Shivam

Related News