कपड़ा व्यापारी से हुई लाखों की धोखाधड़ी का मामला, पुलिसकर्मी ही निकले गैंग के सरगना

punjabkesari.in Monday, Nov 29, 2021 - 09:43 AM (IST)

करनाल : सस्ते सोने के लेनदेन के दौरान असली पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह के सदस्यों पुलिस ने गिरफ्तार कर लिए। गिरफ्तार हुए आरोपियों से पूछताछ के दौरान एक बड़ा खुलासा हुआ जिसमें गैंग के मुख्य सरगना अम्बाला स्टेट क्राइम में सब इंस्पैक्टर के पद पर तैनात था जबकि दूसरा सरगना रिटायर्ड पुलिस सब इंस्पैक्टर था। सब इंस्पैक्टर के पदों पर रहे इन पुलिसकर्मियों ने एक गैंग बनाया हुआ था। जो व्यापारियों व पैसे वाले लोगों से अपने गैंग के सदस्यों को भेज कर सस्ते दामों पर सोना दिलवाने की बात कहते थे और जब वह सोना खरीदने के लिए पैसे लेकर आते थे तो असली पुलिसकर्मी अपने गैंग सदस्यों को पुलिस की वर्दी पहना कर पूरी पुलिस टीम गठित कर उन पर छापा मारते और उनसे पैसे व सोना दोनों छीन लेते थे।

सी.आई.ए. ने टीम गठित कर पकड़े आरोपी
सी.आई.ए.-1 के सब इंस्पैक्टर रमेशचंद ने बताया कि आरोपियों में एक पुलिस का सब इंस्पैक्टर है। जबकि दूसरा रिटायर्ड सब इंस्पेक्टर है। यही इस गैंग के सरगना है। उनको अध्यक्षता में टीम ने 15 नवम्बर को चतर सिंह उर्फ सोनू वासीन्दपुर जिला यमुनानगर को गिरफ्तार किया गया था जो मुख्य आरोपी निकला। 24 नवम्बर को आरोपी मस्तान शाह वासी ऊंचा सदान जिला यमुनानगर 26 नवम्बर को आरोपी हरमौर उर्फ छोटू नामी जय सिंह का माजरा जिला यमुनानगर 27 नवम्बर को आरोपी रणधीर उर्फ धरावासी जम सिंह का मावरा जिला यमुनानगर को अलग अलग जगह से गिरफ्तार किया। पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से पुलिस टीम ने एक गाव 15.90 लाख बरामद किए। छ में आरोनियों द्वारा उपरोक्त वारदात को अंजाम देने के बारे में खुलासा किया गया। इस मामले में कुल 9 |यों का खुलासा हो चुका है जिसमें से 4 को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि 5 फरार चल रहे हैं।

करनाल का कपड़ा व्यापारी शिकार हुआ तो दी शिकायत
करनाल के पकड़ा व्यापारी सैक्टर-6 निवासी गुरविन्द्र सिंह ने बताया कि उसकी पटेल मार्केट में कपड़े की दुकान है। एक दिन उसकी दुकान पर एक व्यक्ति आया और कपड़े के होलसेल रेट के बारे में १ करने लगा। उस व्यक्ति ने दुकान से कपड़े तो बात नहीं खरीदे पर लगातार दुकान पर आने लगा और दुकानदार के साथ अपनी जान पहचान बना ली। कुछ दिन पहले वह व्यक्ति दोबारा फिर दुकान पर आया और कहने लगा कि उसके एक रिश्तेदार के पास घरेलू सोना है। उसे एमरजैंसी में रुपए की जरूरत है, क्योंकि वह अपने लड़के को विदेश भेजना चाहता है। वह सोना सस्ते दाम पर बेच देगा। उसकी बातों में आकर गुरविन्द्र खुराना सोना खरीदने के लिये तैयार हो गया।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम
कपड़ा व्यापारी गुरविंद्र खुराना को आरोपियों ने पैसे लेकर साहा पंचकूला रोड पर पुल के नीचे बुलाया। गुरविंद्र 85 लाख रुपए लेकर आरोपियों द्वारा बताए हुए स्थान पर पहुंच गया। एक व्यक्ति ने सोने का बैग गुरविन्द्र को दे दिया और गुरविन्द्र से 85 लाख रुपए से भरा बैग ले लिया। जैसे ही सोने का बैग खोलकर चैक करने लगा तो उसी समय वहां पर एक गाड़ी में सवार होकर पांच व्यक्ति पुलिस की वर्दी में आए और दोनों से सोने व पैसों का बैग छीन लिया। जिसके बाद सभी आरोपी दोनों बैंग लेकर उसी गाड़ी में सवार होकर इस बात को किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। गुरविन्द्र ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की और दर्शन सिंह व उसके अन्य साथियों के खिलाफ धोखाधड़ी करने, रुपए छीनने व किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देने पर थाना शहर करनाल में धारा 379, 420, 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static