अवैध निर्माणों के तोड़फोड़ के नाम पर बस खानापूर्ति !

9/27/2021 10:15:50 AM

गुडग़ांव (कृष्ण कुमार): नगर निगम शहर में हो रहे अवैध निर्माणों पर तोड़फोड़ की कार्रवाई कर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है। पुराने गुरुग्राम में करीब एक दर्जन से ज्यादा कॉलोनियां अवैध निर्माणों का गढ़ बन चुकी हैं, बावजूद इसके नगर निगम की टीमें इन पर कार्रवाई के नाम पर सिर्फ दिखावा कर रही है। एक बिल्डिंग में तोडफ़ोड़ के बाद उसका काम धड़ल्ले पूरा कर लिया जाता है। आरोप है कि इनफोर्समेंट टीम में बाउंसर से लेकर ऊपर तक के सभी अधिकारी इस खेल में शामिल हैं। शिकायत के बाद भी अवैध निर्माणों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जोन-1 में हजारों की संख्या में अवैध निर्माणों का कार्य चल रहा है, स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत भी निगम अधिकारियों से की मगर वहीं ढाक के तीन पात वाली कहावत निगम अधिकारियों की सटीक बैठती है।

बता दें कि जोन-1 में कृष्णा कॉलोनी, न्यू कॉलोनी, शिवाजी नगर, शांति नगर, राजेंद्रा पार्क, लक्ष्मण विहार, बसई इंकलेव, मदनपुरी आदि करीब एक दर्जन जगहों पर हजारों की संख्या में अवैध निर्माणों का कार्य जोरों से चल रहा है। शिवाजी नगर में एक गंगा अपार्टमेंट में करीब 500 गज से ज्यादा में अवैध $फ्लैट बनाए जा रहे हैं, हालांकि स्थानीय लोगों की शिकायत पर नगर निगम की इनफोर्समेंट टीम ने यहां खानापूर्ति करते हुए तोडफ़ोड़ की थी, लेकिन दो दिन के बाद अब दोबारा से बिल्डिंग की मरम्मत कार्य पूरा कर उसे ठीक कर दिया है। अब ऐसे में शिकायतकर्ता की शिकायत भी खत्म और निगम की टेेंशन की खत्म। 

वहीं इसी के बगल में एक पांच मंजिला इमारत को नगर निगम ने तोडफ़ोड़ कर इसको सील करने की कार्रवाई की थी, लेकिन अब सील बिल्डिंग के अंदर काम जोरों से चल रहा है। इसी के साथ लक्ष्मी गार्डन में पांच मंजिला इमारत को धड़ल्ले से निर्माण कार्य चल रहा है। नगर निगम को इसकी शिकायत के बाद भी आज तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। 

जिन बिल्डिंगों की ऑडियो हुई वायरल वह बन रही शांति नगर में
एक दिन पहले जिन बिल्डिंगों कोबनाने के लिए दो लोगों की बातचीत की रिकॉर्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी वह तीन बिल्डिंग शांति नगर में किसी मनीष राठी बिल्डर की तरफ से बनाई जा रही है। हालांकि नगर निगम की नई इनफोर्समेंट टीम ने कुछ दिन पहले संयुक्त आयुक्त के तबादले के बाद उसमें तोडफ़ोड़ की थी, लेकिन अब उन बिल्डिंगों में धड़ल्ले से कार्य चल रहा है। ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद से बिल्डर को भी अब अपनी तीनों बिल्डिंग टूटने का खतरा सता रहा है।

वायरल ऑडियो से यह साफ तौर से अंदाजा लगाया जा सकता है कि नगर निगम के दोनों जोन के पूर्व संयुक्त आयुक्तो ने जमकर धांधलेबाजी की है। नगर निगम के एक जूनियर इंजीनियर ने बताया कि जहां से माल आ जाता था उसका नोटिस व फाइल गुम कर दी जाती थी, अगर कोई शिकायत करता तो खानापूर्ति के लिए तोडफ़ोड़ करने की बजाए उस पर पुलिस में शिकायत दे दी जाती थी। 
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Recommended News

static