बच्चे खटखटाते रह गए दरवाजा, घर के अंदर हो चुकी थी दंपति की मौत, इस वजह से हुआ हादसा(VIDEO)

punjabkesari.in Thursday, Jan 09, 2020 - 06:07 AM (IST)

यमुनानगर (सुमित): सर्दी से बचने के लिए घर में अंगीठी जलाना एक दंपत्ति के लिए जानलेवा साबित हुआ। घटना हरियाणा के जिला यमुनानगर की है, यहां किराए पर रहे दंपति की मौत का खबर तब मिली, जब उनके यहां ट्यूशन पढऩे आने वाले बच्चों ने काफी देर तक घर का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई जवाब न मिलने पर अपने माता-पिता को सूचना दी, जिन्होंने जांच की तो घर के अंदर मौजूद पति-पत्नी मृत अवस्था में पाए गए। मृतक महिला शहर के नामी संत थॉमस स्कूल में टीचर थी व उसका पति रिसेप्शनिस्ट था। दोनों दो साल पहले ही यहां शिफ्ट हुए थे, जिनकी दो संतानें भी हैं।

ये है पूरा मामला
जानकारी के मुताबिक, दम्पति शहर के नामी संत थॉमस स्कूल में कार्यरत थे। अमितेश स्कूल में रेसेप्सनिस्ट के पद पर था जबकि प्रियंका जियोग्राफी की टीचर थी। वे जगाधरी रक्षक विहार के पास कृष्णा कालोनी में रहते थे। घटना की सूचना मिलते ही थॉमस स्कूल से फादर प्रमोद कुमार व कई अन्य शिक्षक पहुंचे। फादर प्रमोद कुमार ने बताया कि शाम को पांच बजे कॉलोनी के ही बच्चे उनके पास ट्यूशन पढऩे के लिए आते थे। जब ट्यूशन पढऩे वाले बच्चे पहुंचे, तो मकान का दरवाजा बंद मिला। काफी देर तक दरवाजा खटखटाया लेकिन जब दरवाजा नहीं खुला, तो बच्चे वापस लौट गए। 

अनहोनी की आशंका पर लोग दंपति के घर पहुंचे
PunjabKesari, Haryana

बच्चों ने घर आकर बताया कि मैडम का दरवाजा नहीं खुल रहा है। इस पर एक बच्चे के पिता ने दूसरे बच्चे के घर पर फोन कर पता किया, तो वहां से भी यही जवाब मिला। अनहोनी की आशंका में वह मकान पर पहुंचे और जाली काटकर कुंडी खोली गई। जब वह अंदर पहुंचे, तो देखा कि अमितेश बाथरूम की सीट के पास पड़े थे और प्रियंका बेड पर पड़ी थी।

इस मामले की सूचना जगाधरी पुलिस को दी गई। जिसके बाद एसएचओ सिटी जगाधरी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और सीन ऑफ क्राइम की टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जगाधरी सिविल अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया है। 

PunjabKesari, haryana

पुलिस जांच अधिकारी धर्मपाल ने बताया शुरूआती जांच में यही सामने आया है कि कमरे में कोयले की अंगीठी जली हुई थी, जिसकी वजह से गैस बनी और दम घुटने से मौत हुई है। फिलहाल, मामले की गहनता से जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और पूरी जांच के बाद ही सही कारणों का पता लग पाएगा।

दंपति के दो बेटे हुए अनाथ
बताया जा रहा है कि दंपति के पास दो बेटे 11 वर्षीय श्रेष्ठ व चार वर्षीय अहान हैं। जिन्हें क्रिसमस की छुट्टियों में अपने बच्चों को दादा प्रेम मसीह के पास छोड़ कर वापिस जगाधरी आए थे। दोनों के साथ पिछले करीब डेढ़ साल से कृष्णा कालोनी में किराए पर रह रहे थे। दम्पति की मौत के बाद स्कूल में भी शोक की लहर है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Shivam

Related News

Recommended News

static