किसान आंदोलन पर सीएम मनोहर ने दोहराई अपनी बात, कै. अमरिंदर ने कही- प्रतिक्रिया देख कर दंग हूं'

11/26/2020 8:25:48 PM

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा है। जहां एक ओर पंजाब व हरियाणा से किसान लगातार दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री मनोहर ने इसका दोषारोपण पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अभिमन्यु पर किया है। मुख्यमंत्री मनोहर ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने पहले भी कहा था और अब भी कह रहे हैं कि अगर किसानों को एमएसपी को लेकर कोई परेशानी होगी तो वे राजनीति छोड़ देंगे, इसलिए कै.अमरिंदर मासूम किसानों को उकसाना बंद करें।
 

— Manohar Lal (@mlkhattar) November 26, 2020


मुख्यमंत्री मनोहर ने कै. अमरिंदर को संबोधित करते हुए आगे लिखा, 'मैं पिछले 3 दिनों से आप से संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूँ, लेकिन दुख की बात है कि आपने अप्राप्य रहने का फैसला किया- क्या यह किसान के मुद्दों के लिए कितना गंभीर है? आप केवल ट्वीट कर रहे हैं और बातचीत से भाग रहे हैं, क्यों?'
 

— Manohar Lal (@mlkhattar) November 26, 2020


मुख्यमंत्री मनोहर ने तीेसरे ट्वीट में लिखा कि आपके झूठ, धोखे और प्रचार का समय खत्म हो गया है। लोगों को अपना असली चेहरा देखने दें। कृपया कोरोना महामारी के दौरान लोगों के जीवन को खतरे में डालना बंद करें। मैं आपसे लोगों के जीवन के साथ नहीं खेलने का आग्रह करता हूं - कम से कम महामारी के समय सस्ती राजनीति से बचें।

 

— Manohar Lal (@mlkhattar) November 26, 2020


इसके बाद कैप्टन अमरिंदर ने मनोहर लाल के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, 'आपकी प्रतिक्रिया देख कर दंग हूं खट्टर जी। आपको एमएसपी को लेकर किसानों को मनाने की जरुरत है मुझे नहीं। आपको उनके दिल्ली चलो से पहले उनसे बातचीत करने की कोशिश करनी चाहिए थी। अगर आप यह सोचते हैं कि मैं किसानों को उकसा रहा हूं तो फिर हरियाणा के किसान भी दिल्ली की तरफ मार्च क्यों कर रहे हैं?'

 

 

वहीं इससे पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करते हुए खट्टर से कहा कि लगभग 2 महीने से किसान बिना किसी समस्या के पंजाब में शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा सरकार बल का सहारा लेकर उन्हें क्यों उकसा रही है? क्या किसानों को सार्वजनिक राजमार्ग से शांतिपूर्वक गुजरने का अधिकार नहीं है?

 

 

— Capt.Amarinder Singh (@capt_amarinder) November 26, 2020


मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आगे लिखा कि संविधान दिवस पर यह बड़ी दुखद विडंबना की बात है कि किसानों को उनके संवैधानिक अधिकारों के लिए प्रताडि़त किया जा रहा है। उन्होंने आगे लिखा कि मुख्यमंत्री मनोहर किसानों को कगार पर न ढकेलें उन्हें उनकी आवाज दिल्ली तक शांतिपूर्वक ले जाने दें।

 

 

 

 

 


Shivam

Related News