लॉकडाऊन के दौरान शराब के ठेके खुले रहने पर कांग्रेस नेताओं ने जताया एतराज

3/26/2020 9:11:49 AM

चंडीगढ़ : लॉकडाऊन के दौरान शराब के ठेके खुले रहने पर कांग्रेस नेताओं ने सरकार की नीयत पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि आवश्यक वस्तुओं के अलावा सरकार ने शराब के ठेके किस मंशा से खोल रखे हैं। हरियाणा से नवनिर्वाचित राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने ट्वीट करके कहा कि प्रधानमंत्री के लॉकडाऊन के अनुरोध का पूर्ण पालन करने की बजाय हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार शराब के ठेकों को खोलकर जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रही है।

आखिर किसकी शह पर शराब के ठेके खुले हुए हैं। सरकार के जिम्मेदार लोग निजी स्वार्थ, धन लोलुपता से ऊपर उठ कर देशहित में काम करें। पूर्व आबकारी एवं कराधान मंत्री किरण चौधरी ने कहा कि सरकार स्पष्ट करे कि क्या हरियाणा में शराब को भी आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मान्यता है।

दूसरी ओर शराब के ठेकों पर आने वाली भीड़ पुलिस के लिए भी समस्या का कारण बनी हुई है। सबसे ज्यादा दिक्कत पंचकूला, यमुनानगर, करनाल व सिरसा जिलों में शराब के ठेके खुलने के कारण आ रही है। इन सीमावर्ती जिलों से पड़ोसी राज्यों से आने वाले लोग शराब लेकर जा रहे हैं। राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि फसल कटने को तैयार है, जबकि 21 दिन लॉकडाऊन के दौरान सारी फसल खेतों में ही झड़ जाएगी। उन्होंने सरकार से मांग की है कि इस संदर्भ में गाइडलाइन जारी करे कि किसान किस तरह फसल की कटाई करें और किस तरह उसे बाजार में पहुंचाएं।


Isha

Related News