दोस्त के साथ घर जा रहे SPO पर जानलेवा हमला, तोड़ा पैर

7/6/2020 11:25:12 AM

गुरुग्राम (ब्यूरो) : अपने दोस्त के साथ कार में घर जा रहे गुरुग्राम पुलिस के स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। आरोपी ने एसपीओ पर पांच फायर भी किए। इतना ही नही गोली की आवाज सुनकर आरोपी का बेटा व साथी भी आ गए और उन्होंने एसपीओ पर लाठी-डंडों से हमला किया व फरार हो गए। गंभीर हालत में एसपीओ को नागरिक अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां से उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया। शनिवार को एसपीओ का बयान होने के बाद मानेसर थाना पुलिस ने 4 को नामजद करते हुए अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

मामला एक जुलाई की देर रात का है। एमजी रोड चौकी में तैनात एसपीओ प्रवीण कुमार (38) सिरदर्द की शिकायत पर अपने दोस्त युद्धवीर के साथ अस्पताल में दिखाकर वापस मानेसर स्थित घर आ रहा था। उस वक्त एसपीओ सादी वर्दी में ही था। दोनों दोस्त धीरे-धीरे गाड़ी चलाते हुए बात करते जा रहे थे। इतने में एक कार ने ओवरटेक कर उन्हें रुकवा लिया। वह कुछ समझ पाते इससे पहले नशे में धुत व्यक्ति देवेंद्र शिकोहपुर बाहर निकला और एसपीओ से गाली-गलौच करने लगा।

एसपीओ प्रवीण के विरोध करने पर आरोपी ने उस पर 5 राउंड फायर कर दिए जो उसके सिर के ऊपर से निकल गए। फायरिंग की आवाज सुनकर आरोपी का बेटा व उसके 7-8 साथी लाठी-डंडे लेकर मौके पर पहुंच गए। आरोपियों ने प्रवीण पर लाठी-डंडों से वार करते हुए दाएं पैर का घुटना व पैर तोड़ दिया। शोर सुनकर एक गाड़ी मौके पर पहुंची तो आरोपियों ने उसे एसपीओ के साथी समझकर उनकी कार पर तीन-चार राउंड गोली चला दी। जिसमें कार के टायर व बोनट पर गोली लगी तो गाड़ी सवार लोग निकल गए। आरोपी एसपीओ व उसके दोस्त को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। 

बता दें कि एसपीओ प्रवीण को जिला नागरिक अस्पताल में दाखिल कराया लेकिन वहां से उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया। पुलिस के मुताबिक, सफदरजंग अस्पताल से एसपीओ के आर्टिमिस अस्पताल में रेफर होने पर पुलिस को बयान लेने में देरी हो गई। शनिवार शाम को पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया। गुरुग्राम पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने बताया कि मुख्य आरोपी समेत चार की पहचान देवेंद्र, देवेंद्र का बेटा, विजय यादव व शशि यादव है। पुलिस इसमें रंजिश समेत अन्य कोण से जांच कर रही है।

 


Edited By

Manisha rana

Related News