डेंगू भी पहुंचा हाफ सेंचुरी के करीब, मलेरिया के भी 4 मामले आए सामने

11/22/2020 1:47:25 PM

गुडग़ांव: एक ओर जहांं पूरे जिले का ध्यान कोरोना पर है। इसी बीच डेंगू भी धीरे धीरे अपनी पकड़ मजबूत करता जा रहा है। शहर में बीते 2 माह के कदौरान डेंगू के 45 और मलेरिया के 4 मामले दर्ज किए जा चुके है। बताया जा रहा है कि गंभीरता को देखते हुए 11 लाख घरों में लार्वा जांच करा चुका है। अधिकारियों के मुताबिक वर्ष-2019 में डेंगू के सिर्फ 22 मामले जो इस साल महज 2 माह में ही टूट गए। बताया गया है कि हाल में आए मामलों के बाद कुल संख्या 45 हो गई है। चिकित्सकों के मुताबिक डेंगू अधिकतर मरीज स्वस्थ हो चुके है। 

बावजूद इसके जल जमाव व स्थानीय लोगों की लापरवाही मामलों को दिनों दिन बढ़ा रही है। बताया गया है कि मामले अभी और बढ़ेगें जिसे देखते हुए जन जागरूकता व दवाओं के छिड़काव में तेजी लाने के आदेश दिए गए है। इस सीजन में अब तक 4600 घरों को नोटिस व 10 लाख 81 हजार से ज्यादा घरों में मच्छरों के पनपने वाले लार्वा की जांच भी कर चुकी हैं। स्थानीय लोगों द्वारा अगर सर्तकता नही बरती गई तो कोरोना काल में बीमारी व संक्रमण का दोहरी मार स्थानीस लोगों को झेलनी पड़ सकती है। चिकित्सकों के मुताबिक डेंगू, मलेरिया व कोरोना संक्रमण तीनों के शुरूआती लक्षण एक जैसे है। जिसके शुरूआत में सबसे पहले बदन मे दर्द, बुखार व थकान जैसी लक्षण देखे जा रहे है। जिसे लेकर न केवल मरीज उहापोह की स्थिति में है बल्कि कई बार चिकित्सक भी लक्षणों को देख हैरान हो रहे है। 

इसके चलते शुरूआती लक्षणों के आधार पर यह पता लगाना बेहत मुश्किल रहता है कि मरीज किस बीमारी से पीड़ित है। 
वही जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. सुधा गर्ग ने बताया कि लार्वा मिलने पर अभी तक 4600 से ज्यादा लोगों को नोटिस भी जारी किए जा चुके हैं। निगम के स्वास्थ्य अधिकारी आशीश सिंगला ने बताया शहर के 11 लाख से अधिक घरों में लार्वा की जांच की जा चुकी है। लोगों को सचेत किया जा रहा है सबसे गमलों, टायर, प्लास्टि के डिब्बों आदि में पानी नही डहरने देने की अपील की जा रही है। 
 


Isha

Related News