जुमला मालकान की जमीन को लेकर किसानों ने प्रदेश भर में मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

punjabkesari.in Friday, Aug 05, 2022 - 09:14 PM (IST)

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने हरियाणा सरकार द्वारा जुमला मालकान व मुश्तरका मालकान और शामलात की जमीनों को लेकर कानून में किये गए संशोधन व् सुप्रीम कोर्ट के फैंसले के बाद किसानो की जमीनों की मल्कियत पंचायत के नाम तब्दील करने वाले पत्र के खिलाफ व् हरियाणा सरकार से इस संसोधन कानून को वापिस लेने के आग्रह के साथ मुख्यमंत्री हरियाणा के नाम ज्ञापन दिया|  किसानो का कहना है कि हरियाणा सरकार के द्वारा जूमला मालकान व् शामलात की जमीनों को लेकर पास किया गया संशोधन किसानो के लिए एक बड़ी समस्या बन चूका है इस कानून के लागू होते ही किसानो की हज़ारो एकड़ जमीन बिना किसी मुआवजे के पंचायतो के नाम तब्दील हो जायेगी|

 

संयुक्त किसान मोर्चा की कॉल पर हर जिला मुख्यालय पर किसानो ने जुमला मालकान मुश्तरका मालकन व् शामलात की जमीनों को लेकर कानून में किये गए संशोधन को वापिस लेने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री हरियाणा के नाम ज्ञापन दिया| इस अवसर पर मोजूद किसानो का कहना था कि हरियाणा सरकार ने जूमला मालकान व् शामलात जमीनों को लेकर पास किये गए संशोधन के माध्यम से किसानो के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का काम किया है और हमारी मांग है की प्रदेश सरकार तुरंत प्रभाव से एक्ट नम्बर 9 /1992 का यह संसोधन विधेयक वापिस लेकर किसानों को राहत देने का काम करे| कार्यक्रम में शहीद भगत सिंह किसान यूनियन के तेजवीर सिंह व् भारतीय इन्कलाब संघ के उत्तरी हरियाणा के प्रभारी संजीव बख्तुआ मुख्य रूप से मौजूद रहे व् पंचकूला जिला से भारी समझी में किसानों ने इसमें भाग लिया।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Gourav Chouhan

Related News

Recommended News

static