कृषि मंत्री के पैतृक गांव के खेतों में लगी आग, 48 एकड़ गेहूं की फसल जलकर हुई राख

punjabkesari.in Saturday, Apr 16, 2022 - 08:14 PM (IST)

भिवानी (अशोक भारद्वाज) : इन दिनों पूरे प्रदेश में गेहूं की फसल कटाई का काम जोरों पर है। फसल पककर सूख चुकी हैं तथा मामूली सी लापरवाही के कारण आग लगने की घटनाएं प्रदेश भर में हो रही हैं। इसी क्रम में हरियाणा के कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल के पैतृक गांव घुसकानी व तिगड़ाना के खेतों में आज सुबह अज्ञात कारणों के चलते आग लग गई। बताया जा रहा है कि बीडी पीने से निकली चिंगारी ने आग की शुरूआत की थी।

गांव घुसकानी व तिगड़़ाना निवासी राजेश, पवन व सौरभ ने बताया कि जब वह अपने गांव में थे, उसी दौरान पड़ोसियों ने उन्हें सूचना दी कि उनके खेतों में खड़ी गेहूं की फसल में आग लगी हुई है। जिसके बाद उन्होंने तुरंत फायर बिग्रेड को फोन किया तथा वह तुरंत अपने खेतों के लिए निकल गए। जब वह अपने खेत में पहुंचे तो उनकी गेहूं की फसल धू-धू कर जल रही थी। आग पड़ोस के खेतों में ना फैले, इसके लिए उन्होंने वहां उपलब्ध मिट्टी व गीले पत्तों से आगे बुझाने का प्रयास किया। इसी दौरान फायर बिग्रेड की गाडिय़ां भी खेतों में पहुंच गई तथा आग पर काबू पाया।

बता दें कि इस आगजनी की घटना में नौ किसानों की 48 एकड़ से अधिक फसल जलकर राख हो गई है। ग्रामीणों ने सरकार से मांग की है कि उनकी जली हुई फसल का मुआवजा दे, क्योंकि वे पूर्णतया कृषि कार्य पर आधारित है। अब उनकी फसल जलने से उनके सामने अगली फसल बोने तथा साल भर अपना खर्चा चलाने की समस्या पैदा हो गई हैं। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static