अन्तर्राष्ट्रीय चोर गिरोह का किया भंडाफोड़, चार आरोपियों को गिरफ्तार कर चौदह गाड़ियां की बरामद

punjabkesari.in Monday, Jun 22, 2020 - 03:35 PM (IST)

सोहना (सतीश) : स्पेशल टास्क फोर्स ने चोरी की गाड़ियों का फर्जी रजिस्ट्रेशन बनाने वाले अंतर्राष्ट्रीय गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रजिस्ट्रेशन विभाग के कर्मचारी भी शामिल है। जो काले कारनामे को अंजाम देते थे। आरोपी लग्जरी गाड़ियों को चोरी करते थे व उनका चेसिस नंबर व इंजन नंबर बदलकर उनके फर्जी रजिस्ट्रेशन बनाकर अन्य राज्यों में बेच देते थे। गिरोह का मुख्य आरोपी चंडीगढ़ ज्यूडिशियल में है जिसको जल्द ही स्पेशल टास्क फोर्स प्रोडक्शन वारन्ट पर लेगी। वहीं स्पेशल टास्क फोर्स ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों को 4 दिन के रिमांड पर लिया है। इनके पास से 14 लग्जरी गाड़ियां बरामद की है।

जानकारी अनुसार एसटीएफ के डीआईजी ने खुलासा करते हुए पत्रकारों को बताया कि काफी समय से टीम इस गिरोह के सदस्यों की तलाश कर रही थी। 3 मई को दादरी में एक एफ आईआर  दर्ज की गई है जिसमें प्रवीण नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया। जिसके पास से चार गाड़ियां बरामद की गई ।उसके बाद इस मामले का खुलासा शुरू हो गया। अधिकारियों ने बताया कि  गिरोह के लोग रजिस्ट्रेशन ऑफिस के कर्मचारियों के साथ मिलीभगत करके नंबर प्लेट के लिए अप्लाई करते थे व उनके साथ मिलीभगत करके इन चोरी की गाड़ियों को फैंक रजिस्ट्रेशन करा कर अन्य राज्यों में बेच देते थे।

वहीं इस मामले में सोनीपत के एसडीएम ने भी खुलासे किए हैं जिसमें करीब 56 गाड़ियों के बिना डाक्यूमेंट्स व बिना परमिशन के रजिस्ट्रेशन किए हुए हैं। इस मामले में स्पेशल टास्क फोर्स ने आरोपी प्रवीण, रमेश, अमित व रजिस्ट्रेशन ऑफिस के क्लर्क अनिल कुमार व कंप्यूटर ऑपरेटर सोमबीर को गिरफ्तार कर 4 दिन के रिमांड पर लिया है। अभी इनसे अन्य गाड़ियों के भी खुलासा होने की संभावनाएं बताई जा रही है। आरोपों के पास से ब्रेजा,स्कार्पियों इनोवा, क्रेटा जैसी गाड़ियां बरामद हुई है। यह लोग आरक्षण कांड में महम रजिस्ट्रेशन कार्यालय में लगी आग का हवाला देकर रजिस्ट्रेशन करवाते थे। अभी इस मामले में मुख्य आरोपी चंडीगढ़ के ज्यूडिशियल में है जिसे जल्द ही प्रोडक्शन वारंट पर लिया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

Manisha rana

Related News

Recommended News

static