CM का पी.ए. बताकर नौकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए ठगे, मुख्यारोपी गिरफ्तार

1/19/2021 10:11:26 AM

कैथल (सुखविंद्र/अजय): स्वयं को मुख्यमंत्री का पी.ए. बताकर नौकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए नकदी एंठने वाले गिरोह के मुख्यारोपी को कैथल पुलिस की स्पेशल डिटैक्टिव यूनिट (एस.डी.यू.) द्वारा एक आरोपी को गिरफ्तार करके उसके हिस्से आई नकदी की बरामदगी सहित व्यापक पूछताछ के लिए सोमवार को माननीय न्यायालय से एक दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। उक्त मामले में जालसाज गिरोह से जुड़े 4 अन्य आरोपी पहले ही पुलिस जांच में शामिल किए जा चुके हैं।

पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह ने बताया कि सत्यवान निवासी गाव बड़सिकरी खुर्द की शिकायत पर 19 नवम्बर 2019 को थाना कलायत में दर्ज अभियोग अनुसार राजा उर्फ राजकुमार निवासी हसनगढ़ जिला हिसार उसकी माता की चेचेरी बहन का लड़का है जिसने वर्ष 2017 के दौरान सत्यवान को फोन करके जानकारी ली कि तेरा छोटा भाई जगमेश क्या काम करता है। जगमेश द्वारा चंडीगढ़ पुलिस का फिजिकल टैस्ट क्लीयर करने उपरांत तैयारी करने की जानकारी प्राप्त होने राजकुमार ने अपनी छोटी बहन राजबाला के चंडीगढ़ में एक उच्च पद पर आशीन होने की कहते हुए सत्यवान को आश्वस्त किया कि वह उसके छोटे भाई जगमेश का चंडीगढ़ पुलिस में चयन करवा देगा, जिसके लिए उनके झांसे में आए सत्यवान द्वारा 12 लाख रुपए में सौदा तय हुआ। जिनमें से 6 लाख पहले तथा शेष राशि चयन होने उपरांत देनी थी।

सत्यवान द्वारा राजकुमार को दी गई 6 लाख रुपए की राशि चंढ़ीगढ़ पहुंचने उपरांत सत्यवान की मौजूदगी में राजकुमार से राजबाला के पति कुलबीर हासिल कर ली। जिसके बाद राजबाला की मांग पर सत्यवान द्वारा 10 दिसम्बर 2017 को चंडीगढ़ जाकर उनको 10 किलो देशी घी भी पहुंचा दिया गया। इसके पश्चात फरवरी 2018 मे चंडीगढ़ मे ड्राइवरों की पोस्ट निकली हुई थी तो कुलबीर एवं राजबाला का फोन पर सत्यवान द्वारा स्वयं हेतु चंडीगढ़ पहुंचकर आरोपियों द्वारा 6.5 लाख में बात करके उनको 4 लाख रुपए नकदी अदा कर दी गई। इसके बाद आरोपियों द्वारा उनके साथी मुकेश को कथित तौर पर सी.एम. का पी.ए. बताकर उसकी मार्फत काम करवाने की एवं में चंडीगढ़ में कलर्क, हरियाणा पुलिस, पीयन, कण्डक्टर व डी-ग्रुप आदि के नाम पर लाखों रुपए नकदी एंठ ली गई। 

एस.पी. ने बताया कि उपरोक्त मामले की जांच एस.डी.यू. कैथल पुलिस द्वारा करते हुए आरोपी राजा उर्फ राजकुमार व रमन दोनों निवासी गांव हसनगढ़ जिला हिसार, राजबाला पत्नी कुलबीर सिंह व कुलबीर सिंह दोनों निवासी गांव सलीमगढ तहसील मुणक जिला संगरूर पहले ही जांच में शामिल किए जा चुके हैं। मामले की आगामी जांच वाणिज्यिक अपराध प्रकोष्ठ के सबइंस्पैक्टर महेंद्र सिंह द्वारा करते हुए आरोपी मुकेश निवासी महम जिला रोहतक को रविवार के दिन गिरफ्तार कर लिया गया। जालसाज गिरोह द्वारा कथित तौर पर बतौर सी.एम. का पी.ए. बताया गया आरोपी मुकेश अंडर मैट्रिक बताया गया है। आरोपी के हिस्से आई नकदी की बरामदगी सहित व्यापक पूछताछ हेतु आरोपी मुकेश का सोमवार को माननीय न्यायालय से एक दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।


Isha

Related News