शराब ठेकेदार की हत्या का मामला: लारेंस ने नेहरा से फोन कर कहा था हमारे आदमियों ने काम कर दिया

9/5/2020 4:40:02 PM

डबवाली (संदीप कुमार): चौटाला गांव में बीती 20 जुलाई को शराब ठेकेदार जयप्रकाश पूनिया की हत्या की खौफनाक साजिश किसी फिल्मी स्क्रिप्ट से कम नहीं है। पुलिस के मुताबिक गांव चौटाला के रहने वाले शराब ठेकेदार जयप्रकाश पूनिया ने गैंगस्टर लारेंस बिश्रोई के रिश्तेदार की हत्या करवा दी थी। गांव सक्ताखेड़ा निवासी सोनू की वर्ष 2014 में छात्र संघ के चुनावों के दौरान राजस्थान के संगरिया में हत्या हुई थी। अपने रिश्तेदार की इस हत्या ने लारेंस बिश्रोई को झकझोर कर रख दिया था। लारेंस तभी से अपने रिश्तेदार सोनु की मौत का बदला लेना चाहता था। 6 वर्ष बाद लारेंस ने इस हत्या का बदला लिया। हरियाणा पुलिस द्वारा इस चौटाला डबल मर्डर मामले में होशियारपुर जेल से प्रोडक् शन वारंट पर लाए गए गैंगस्टर संपत नेहरा ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया कि वह लारेंस बिश्रोई के लगातार संपर्क में था। नेहरा ने पुलिस को बताया कि चौटाला में शराब ठेकेदारों की हत्या के बाद लारेंस बिश्रोई ने उसे फोन पर बताया था कि काम हो गया है। लारेंस बिश्रोई शराब ठेकेदार जयप्रकाश पूनिया से अपने रिश्तेदार सोनू की मौत का बदला लेना चाहता था। 

कोर्ट परिसर बना रहा पुलिस छावनी।
बीती 20 जुलाई को गांव चौटाला में दो शराब ठेकेदारों की हत्या की साजिश रचने केआरोप में गैंगस्टर संपत नेहरा का आज रिमांड पूरा होने के बाद हरियाणा पुलिस की स्पेशल फोर्स वापिस होशियारपुर जेल छोडऩे के लिए रवाना हुई। गैंगस्टर नेहरा को दो डी.एस.पी. के नेत्तृव में हरियाणा पुलिस के बड़ी संख्या में जवान गाडिय़ों के लम्बे काफिले के साथ रवाना हुए। नेहरा को शनिवार सुबह डबवाली के सरकारी अस्पताल में मेडिकल जांच के लिए लाया गया। इसके बाद उसे डबवाली कोर्ट में पेश किया। इस दौरान पूरे कोर्ट परिसर पुलिस छावनी बना रहा। पुलिस के जवान कोर्ट परिसर के चारों तरफ तैनात रहे। गैंगस्टर नेहरा को सुबह सदर थाना से डबवाली के नागरिक अस्पताल लाया गया। जहां उसकी मेडिकल जांच करवाई गई। इसके अलावा उसका कोरोना का टेस्ट भी करवाया गया। जो कि नेगिटिव आया।  इसके बाद उसे भारी सुरक्षा के बीच डबवाली कोर्ट लाया गया। जहां उसे वीडियो कांफ्रेंङ्क्षसग के जरिए जज के सामने पेश किया गया। पुलिस की याचिका पर कोर्ट ने संपत नेहरा को वापिस होशियारपुर जेल भेजने के आदेश दे दिए। 

रिश्तेदार की मौत का बदला लिया 
पुलिस रिमांड पूरा होने के बाद पंजाब केसरी से बातचीत करते हुए डबवाली के डी.एस.पी. कुलदीप बेनीवाल ने बताया कि गैंगस्टर संपत नेहरा को पुलिस वापिस होशियारपुर जेल में छोडक़र आएगी। संपत का कोरोना टेस्ट करवाया गया है। जो कि नेगिटिव आया है। इसके बाद इसे डबवाली की कोर्ट में पेश किया गया। जहां गैंगस्टर नेहरा को वापिस जेल में भेजे जाने को लेकर डबवाली कोर्ट में पुलिस ने याचिक दाखिल की। इस पर कोर्ट ने गैंगस्टर संपत नेहरा को जेल भेजने के आदेश दे दिए। डी.एस.पी. बेनीवाल के मुताबिक पूछताछ में गैंगस्टर नेहरा ने बताया कि वर्ष 2018 में गिरफ्तार होने से पहले से ही वह लारेंस बिश्रोई के संपर्क में था। बेनीवाल के मुताबिक संपत नेहरा जेल में बंद लारेंस बिश्रोई से मुलाकात करके भी आया था। इस मुलाकात के दौरान लारेंस ने संपत्त नेहरा को बताया था कि चौटाला गांव का रहने वाले जयप्रकाश पूनिया ने गांव सक्ताखेड़ा निवासी उसके रिश्तेदार सोनू की वर्ष 2014 में संगरिया में हत्या करवा दी थी।

लारेंस ने संपत नेहरा से कहा था कि वह इस हत्या का बदला जरूर लेगा। इस मुलाकात के बाद भी इस मामले में फोन पर होशियारपुर जेल से संपत नेहरा ओर लारेंस बिश्रोई के बीच लगातार कई बार बात हुई है। इसकेबाद बीती 20 जुलाई को गांव चौटाला में शराब ठेकेदार जयप्रकाश पूनिया की हत्या हो गई थी। डी.एस.पी. बेनीवाल के मुताबिक हत्या के बाद लारेंस ने 25 जुलाई को संपत नेहरा को फोन पर जानकारी दी कि अपने आदमियों ने काम कर दिया है। इसके बाद 31 अगस्त को संपत नेहरा का मोबाइल फोन होशियारपुर जेल में पकड़ा गया। जिसके बाद संपत नेहरा पर होशियारपुर पुलिस ने मामला दर्ज किया था। डी.एस.पी. बेनीवाल के मुताबिक लारेंस बिश्रोई को प्रोडक् शन वारंट पर लाने के बाद पुलिस नेहरा की इस केस से जुड़ी और भूमिका की जांच करेगी। संपत नेहरा और लारेंस बिश्रोई दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ भी की जाएगी।


Isha

Related News