3 मासूमों की मौत पर इंसाफ मांगने पर मिली ''पुलिस की लाठी'', मंत्री विज ने लिया मामले में संज्ञान

7/31/2020 6:22:42 PM

पानीपत (सचिन/खर्ब): जरा सोचिए! उन परिवारों पर क्या बीत रही होगी, जिनके घरों के दीपक बुझ गए हों और इंसाफ के लिए गुहार लगाने पर इन परिवारों को ही लाठी खानी पड़ी... दिल फट जाएगा। यह मामला हरियाणा के पानीपत जिले का है, जहां तीन मासूम बच्चों की मौत पर परिजनों के साथ ग्रामीण हत्या का आरोप लगाते हुए मामले की स्पष्ट जांच व दोषियों को सजा दिलाने के लिए जिला लघु सचिवालय के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, जिन पर बीते दिन पुलिस ने लाठियां बरसा दी, जिसमें कई लोग घायल हो गए।

वहीं अब घायल हुए लोगों की रिपोर्ट मीडिया की सुर्खियां बनने के बाद हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने स्वयं संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट तलब कर ली है। गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि उन्होंने जब सुबह मीडिया की सुर्खियों में यह मामला देखा तो वायरलेस सेट द्वारा एसपी पानीपत मनीषा चौधरी को 12 बजे तक रिपोर्ट भिजवाने के लिए कहा। विज ने बताया कि उन्होंने इसके लिए करनाल के एसपी की स्पेशल टीम बना दी है, जिसे 2 दिन में बच्चों की मौत व लाठीचार्ज की रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। 2 दिन के अंदर रिपोर्ट आ जाएगी।

इंद्री के विधायक ने कहा- न्याय मिलने तक शांत नहीं बैठूंगा
मामले की गंभीरता को देखते हुए इंद्री से विधायक रामकुमार कश्यप ने पानीपत पहुंचकर पूरे घटनाक्रम की निंदा की और कहा कि जब तक न्याय नहीं मिलेगा वह शांति से नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि यदि न्याय के लिए उन्हें इस्तीफा भी देना पड़ा तो वह पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले को गलत तरीके से दिखाया जा रहा है। पुलिस सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया।

क्या है पूरा मामला
बीती 8 जुलाई को गांव बिंझौल के पास रजबाहे में तीन बच्चों के शव मिला था, जिनके परिजनों ने रजबाहे के साथ लगते डाई हाउस के मालिक पर बच्चों की हत्या का आरोप लगाया था। परिजनों का आरोप है कि डाई हाउस मालिक ने बच्चों को मारकर रजबाहे में फेंक दिया। तीनों बच्चों की उम्र 8 से 11 साल के बीच थी। बच्चों के परिजन डाई हाउस मालिक की गिरफ्तारी पर अड़े हुए हैं।

जैसा कि बताया गया है कि घटना के 6 बच्चे मिलकर पतंग उड़ा रहे थे, तभी अचानक पतंग कटकर साथ लगते डाईहाउस में चली गई। आरोप है कि जब बच्चे पतंग लेने डाईहाउस में गए तो मालिक ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया। 3 बच्चे मौके से भाग गए और मालिक नितिन ने बच्चों को पीट पीटकर मौत के घाट उतार दिया और बच्चों के शवों को साथ लगते रजबाहे में फेंक दिया।


Shivam

Related News