एमपी पुलिस ने निर्दलीय विधायक के भाई शिवराज कुंडू को गुड़गांव से गिरफ्तार

punjabkesari.in Tuesday, Dec 06, 2022 - 08:52 PM (IST)

गुड़गांव, (ब्यूरो): मध्यप्रदेश पुलिस ने हरियाणा के महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू के भाई शिवराज कुंडू को सेक्टर-50 गुडग़ांव से गिरफ्तार कर लिया। शिवराज कुंडू पर भोपाल में धोखाधड़ी सहित अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज हैं। शिवराज कुंडू की गिरफ्तारी के दौरान मध्यप्रदेश पुलिस के साथ सेक्टर-50 थाना पुलिस भी मौजूद रही। इस मामले में मध्य प्रदेश पुलिस एमएलए बलराज कुंडू से भी पूछताछ कर सकती है।

गुड़गांव की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।

 

दरअसल, केसीसी बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड नामक कंस्ट्रक्शन कंपनी में शिवराज कुंडू निदेशक है। इस कंपनी में विधायक बलराज कुंडू भी निदेशक हैं। कंपनी पिछले कई सालों से मध्यप्रदेश में कंस्ट्रक्शन का ठेके लेती रही है। झज्जर के रहने वाले धर्मवीर ने मध्य प्रदेश के मोती नगर थाने में दी शिकायत में बताया था कि उनकी कंपनी श्री बालाजी कंस्ट्रक्शन कंपनी का कार्य भी मध्यप्रदेश में चल रहा था। इस दौरान उनकी पहचान रोहित शर्मा से हुई थी। रोहित एक कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर था। साल 2018 में जब रोहित मध्य प्रदेश से झज्जर आया तो उसने बताया कि उनकी कंपनी का कांट्रेक्ट केसीसी बिल्डकॉन से हुआ है। जल्द ही वह धर्मवीर की कंपनी का भी कांस्ट्रेक्ट उनसे करा देगा।

 

करीब सात महीने बाद उसने केसीसी बिल्डकॉन के डायरेक्टर महम से विधायक बलराज कुंडू, उनके भाई शिवराज कुंडू व वी के लांबा से धर्मवीर की मुलाकात कराकर मेटीरियल सप्लाई करने का कांट्रेक्ट दिला दिया। इसके बाद रोहित ने केसीसी बिल्डकॉन के जरिए उन्हें प्लांट सेटअप करने के लिए सवा करोड़ रुपए दिए। यह राशि देने के बाद उन्हें दोबारा कोई रकम नहीं दी गई। जबकि धर्मवीर की कंपनी का मेटीरियल सप्लाई करने का बिल करीब 6 करोड़ रुपए पहुंच गया। धर्मवीर ने जब काम बंद करने की बात कही तो विधायक व उसके भाई ने उन्हें धमकी दी जिसके बाद मजबूरन धर्मवीर को काम जारी रखना पड़ा।

 

आरोप है कि कुछ समय बाद विधायक व उसके भाई ने उनसे मध्य प्रदेश में सेटअप किए गए प्लांट को खरीद लिया जिसकी आधी रकम उन्हें दे दी गई। उनके मेटीरियल सप्लाई की करीब 6 करोड़ रुपए बकाया राशि का उन्हें चेक दिया गया जो चेक बाउंस हो गया। इस बारे में जब उन्होंने विधायक व उनके भाई से बात की तो उन्होंने धर्मवीर को धमका दिया। इस पर धर्मवीर ने झज्जर अदालत में चेक बाउंसिंग का केस दायर करते हुए मध्य प्रदेश पुलिस को धोखाधड़ी की शिकायत दी। 

:

 

जिसके बाद सोमवार की देर सांय मध्यप्रदेश पुलिस के सात जवान दो गाड़ियों में सवार होकर गुड़गांव पहुंंचे। वहीं गुडग़ांव के सेक्टर-50 थाना पुलिस को सूचित किया गया। गुड़गांव पुलिस को साथ लेकर एमपी पुलिस ने सेक्टर-50 से शिवराज कुंडू को गिरफ्तार कर लिया। इस पूरी कार्रवाई के दौरान सेक्टर-50 थाना के प्रभारी राजेश कुमार भी मध्य प्रदेश पुलिस के साथ रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pawan Kumar Sethi

Related News

Recommended News

static