पिता के एक्सीडेंट के बाद परिवार ने ठान लिया था- बेटी को डॉक्टर बनाना है, अब बेटी ने लहराया परचम

10/20/2020 5:16:12 PM

रादौर (कुलदीप सैनी): रादौर की शास्त्री कालोनी की रहने वाली मुस्कान माटिया ने नीट की परीक्षा में 720 अंकों में से 656 अंक प्राप्त कर देश में 2846वां रैंक प्राप्त किया है। मुस्कान की इस सफलता ने परिवार व रादौर क्षेत्र का नाम रोशन किया है। मुस्कान की इस उपलब्धि पर परिवार में भी खुशी का माहौल है। मुस्कान के पिता जहां एक प्राइवेट कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद पर तो उसकी माता सरकारी स्कूल में जेबीटी टीचर हैं।

मुस्कान ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने परिवार व टीचर्स को दिया है। मुस्कान ने बताया कि वह एमबीबीएस करने के बाद कॉर्डोयोलॉजी में जाना चाहेंगी, क्योंकि आज बदलते लाइफ स्टाइल के कारण लोग दिल की बीमारी से काफी प्रभावित रहते हैं, तो मेरा यही लक्ष्य है कि मैं उनकी कुछ मदद कर सकूं। 

PunjabKesari, Haryana

मुस्कान कहती हैं कि हमें पहले तो ये सोचना है कि हमें किस फील्ड में जाना है और फिर उसकी मन से तैयारी की जाए, तो सफलता जरूर मिलती है। मुस्कान ने कहा कि सोशल मीडिया का अगर हम पॉजिटिव तरीके से इस्तेमाल करें तो उससे भी काफी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

कुछ दिन पहले पिता का हुआ था एक्सीडेंट
मुस्कान की मां मीना माटिया ने बेटी की उपलब्धि पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें आज काफी गर्व महसूस हो रहा है, क्योंकि आज तक उनकी फैमली में कोई भी डॉक्टर नहीं है, इसलिए आज काफी खुशी है कि उनकी बेटी डॉक्टर बनने जा रही है। मां मीना ने बताया कि कहा कुछ समय पहले मुस्कान के पिता का एक्सीडेंट हो गया था, जिसके बाद डॉक्टरों ने ही उनकी जान बचाई थी, तभी मन आया था कि अपनी बेटी को डॉक्टर बनाएंगे। उन्होंने कहा कि आजकल कुछ परिवार बेटियों को हायर एजुकेशन में जाने नहीं देते। लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए अगर बच्चे में आगे बढऩे की इच्छा है, तो परिजनों को उनको पूरा प्रोत्साहन देना चाहिए। 


Shivam

Related News