कोरोना काल में संकटमोचक के रूप में सामने आए प्रणव शुक्ला, कार को ही दे दिया एंबुलेंस का रूप

5/10/2021 9:11:29 AM

फरीदाबाद (ब्यूरो) : कोरोना संकट के दौर में जहां एक तरफ कालाबाजारी और भ्रष्टाचार की खबरे सामने आ रही है। वहीं वैसे लोग भी सामने आ रहे जो संकट के दौर में संकटमोचक का काम कर रहे है। ऐसे लोग भी लोगों में कोरोना से जीतने की उम्मीद जगा रहे है। श्री अनादि सेवा प्रकल्प, गांव पाली के संस्थापक अध्यक्ष प्रणव शुक्ला भी कई वर्षों से समाजसेवा में जुटे हैं। श्री अनादि सेवा प्रकल्प की ओर से पाली में वृद्धाश्रम चल रहा है। वृद्धाश्रम में 46 बुजुर्ग रह रहे हैं।

इन बुजुर्गों की देखरेख और खानपान का खर्चा वृद्धाश्रम की ओर से किया जाता है। बुजुर्गों का इलाज हो या अन्य कोई सेवा प्रणव शुक्ला हमेशा तैयार रहते हैं। अब कोरोना की वजह से हालात बिगड़े, तो सेवा भावना को ध्यान में रखते हुए शुक्ला जी(प्रणव शुक्ला) जरूरतमंद की मदद को कार लेकर मैदान में आ गए। प्रणव ने अपनी कार को एंबुलेंस का रूप दे दिया है। ताकि जरूरतमंदों की मदद कर सके। वहीं मोबाइल नंबर को भी सार्वजनिक कर दिया है।

जगह-जगह यही संदेश दिया है कि अगर किसी भी परिवार को रात नौ बजे से सुबह सात बजे तक कहीं आने की जरूरत पड़े, तो वह परिवहन सेवा देने को तैयार हैं। रात को सेवा करने के मुद्दे पर वह कहते हैं कि दिन में तो बहुत से लोग समाजसेवा कर रहे हैं। ऐसे में उन्होंने रात को जरूरतमंद के काम आने को अधिक महत्वपूर्ण समझा। बहुत से निजी एंबुलेंस चालक आजकल रात की पाली में आम दिनों की अपेक्षा अधिक पैसा मांग रहे हैं। प्रणव शुक्ला कहते हैं कि उन्होंने लोगों की तकलीफ को समझते हुए 14 अप्रैल से परिवहन सेवा शुरू की है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Recommended News

static