नौल्था गांव के सरपंच पर पंचों ने ब्लैकमेल करने का लगाया आरोप, शिकायत में कही ये बड़ी बात

punjabkesari.in Thursday, Jun 01, 2023 - 09:46 PM (IST)

पानीपत(सचिन): शहर के नौल्था गांव के सरपंच पंचों को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है। इस दौरान बीडीपीओ कार्यालय में सरपंच के खिलाफ शिकायत देने और सरपंच द्वारा पंचों के खिलाफ दी गई शिकायत का जवाब देने पहुंचे पंचों ने बताया कि उन्होंने सरपंच बलराज द्वारा ग्राम पंचायत के विकास कार्यों में की गई गड़बड़ी और गबन के मामले को उजागर करते हुए अधिकारियों को शिकायत दी थी। जिसकी एवज में अब सरपंच अपने जानकारों से हमारे खिलाफ झूठी शिकायतें दिलवाकर उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। साथ ही शिकायतें वापस लेने का दबाव भी बना रहा है। इतना ही नहीं पंचों ने बताया कि अगर शिकायतें वापस नहीं ली गई तो सरपंच उन्हें सस्पेंड करवाने की धमकी भी दे रहा है।

 

कुछ दिन पहले सरपंच बलराज का वीडियो हुआ था वायरल

 

बता दें कि बीते दिनों ग्राम पंचायत नौल्था के सरपंच बलराज का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें सरपंच अधिकारियों को एस्टीमेट बनवाने और विकास कार्य करवाने के नाम पर पैसे और कमीशन देने की बात कहता हुआ दिखाई दिया। जिसके बाद सरपंच पर एक के बाद एक गांव के ही लोग भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं। हालांकि दोनों तरफ से अधिकारियों को शिकायत दी गई है और अधिकारी जांच करने का हवाला देकर मामले से पल्ला झाड़ लेते हैं।

 

पंचों ने बताया कि गांव में नियमों को ताक पर रखकर हो रहा काम

 

वहीं वार्ड संख्या 14 से पंच पवन ने बताया कि ग्राम पंचायत नौल्था में धड़ल्ले से नियमों को ताक पर रखकर काम हो रहे हैं। उन्होंने बताया की ग्राम पंचायत नौल्था में जितनी भी महिला पंच बनी है कोई भी मीटिंग में नहीं पहुंचती हैं और ना ही किसी एजेंडे पर उनके साइन होते हैं उनके पति ही सरपंच से मिलीभगत कर सभी विकास कार्यों के एजेंडो पर हस्ताक्षर कर देते हैं। उसने अधिकारियों पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि वह मामले को लेकर कई बार अधिकारियों को शिकायत दे चुके हैं, लेकिन कोई भी कार्रवाई अमल में नहीं लाई जाती है।

 

एक्टिविस्ट ने सरपंच पर करोड़ों के गबन का लगाया आरोप

वहीं ग्राम पंचायत नौल्था के आरटीआई एक्टिविस्ट विकास शर्मा ने सरपंच पर करोड़ों रुपए के गबन का आरोप लगाया है।  विकास शर्मा ने सरपंच पर ग्राम पंचायत की भूमि पर अवैध कब्जे करवाने और अवैध निर्माण करवाने का भी आरोप लगाया है। साथ ही उसने अधिकारियों पर भी मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा वह बीडीपीओ कार्यालय में कई बार शिकायत दे चुके हैं, लेकिन बीडीपीओ द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस मामले को लेकर जब इसराना बीडीपीओ से बात की  गई तो उन्होंने कोई भी जवाब नहीं दिया और गाड़ी में बैठ कर चले गए। अब देखने वाली बात होगी कि अधिकारियों द्वारा मामले का पर्दाफाश करके कार्रवाई की जाती है।

                 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)        

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Ajay Kumar Sharma

Related News

Recommended News

static