4 संदिग्ध आतंकियों के पास से 2 फर्जी गाड़ियों की RC हुई बरामद

punjabkesari.in Wednesday, May 11, 2022 - 04:39 PM (IST)

करनाल: पाकिस्तान से तेलंगाना बारुद लेकर जाने वाले 4 संदिग्ध आतंकियों के पास से 2 फर्जी गाड़ियों की RC बरामद हुई है। दोनों गाड़ियां हरियाणा के जिले पानीपत और यमुनानगर में मौजूद हैं। पंजाब में आतंकी नकली आरसी और नम्बर प्लेट के साथ गाड़ी चलाते थे। अलग अलग जांच एजेंसियों ने की आतंकियों से पूछताछ की है। जेल से राजबीर को पंजाब पुलिस ने प्रोडक्शन वारंट पर लेकर बातचीत शुरू की। इन आतंकियों को पुलिस फिरोजपुर और तरनतारन लेकर भी गई थी। अभी तक करनाल के किसी व्यक्ति का संपर्क आतंकियों के साथ नहीं मिला है। मोहाली ब्लास्ट से इन आतंकियों का कोई समंध नही है ,  पाकिस्तान से रिंदा विस्फोटक सामग्री के साथ ड्रग्स भेजता था। आरोपियों द्वारा ड्रग्स को बेचकर पैसे मिलते थे। जिससे ये अपने काम पूरे करते थे।
 
एसपी गंगाराम पुनिया ने बताया कि 5 मई को मधुबन थाने में 4 आतंकियों की गिरफ्तारी की थी। इसके बाद चारों आराेपियों को 10 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। गाड़ी की तलाशी के दौरान दो आरसी भी बरामद हुई थी। उनकी पुलिस ने गहनता से जांच की। इसमें पाया गया कि ये राशि हरियाणा की गाड़ियों की हैं। ब्रेजा और स्कॉरपियो है। इनकी गाड़ियां एक पानीपत और दूसरी यमुनानगर में है और आतंकियों के पास ये आरसी फर्जी है। इसके आधार पर मधुबन थाने में दूसरा केस दर्ज किया है। आतंकियों के पास दो अन्य गाड़ियां है। 

महाराष्ट्र में भी बारुद पहुंचाने के सवाल पर एसपी ने कहा कि इस मामले में अलग-अलग एजेंसियों पूछताछ में जुटी हैं। देशभर से सुरक्षा एजेंसियों अपनी जिम्मेदारियों को निभा रही हैं। इन्हीं में महाराष्ट्र की टीम भी करनाल में आकर पूछताछ करके गई है। पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, बीएसएफ समेत कई संबंधी एजेंसियां आती है। जिसको जो जानकारी चाहिए वो उपलब्ध करवाई जा रही है। हर लेवल की जानकारी मुहैया करवा रही है।
 
अभी गाड़िया रिकवर नहीं हुई है। जो आदमी फर्जी आरसी बनता था। उसको गिरफ्तार करने के लिए हमारी टीम गई है। इसके बाद ही गाड़ियों को बरामद किया जाएगा। कुछ बैंकों के डिटेल मिली है। इसमें गुरप्रीत नाम के आतंकी ने कैश डिपॉजिट फिरोजपुर से किए हैं। आरोपियों को फिरोजपुर और तरनतारन लेकर गए थे। bपंजाब में जिन आरोपियों को पुलिस रिमांड चल रहा है। जैसे ही वहां पर रिमांड पूरा हो जाएगा। हम उन्हें प्राडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार करके लाएंगे।  चारों आरोपी करनाल पुलिस के 10 दिन के पुलिस रिमांड पर हैं। इसके बाद जरुरत पड़ी तो रिमांड को आगे बढ़ाया जाएगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static