थाली से सब्जियां गायब, पड़ रही महंगाई की मार

punjabkesari.in Saturday, Nov 21, 2020 - 11:39 PM (IST)

सोहना (चंदन): इन दिनों गरीब लोगों की थाली से सब्जियां गायब होती जा रही हैं। इससे पहले प्याज काटते समय आंसू आते थे किन्तु अब रेट सुनकर। आसमान छू रहे सब्जी के भावों ने रसोई का बजट बिगाड़ कर रख दिया है। सब्जी खरीदने वालों का कहना है कि जहां पहले एक किलो सब्जी खरीदते थे किन्तु अब महंगाई की मार के चलते आधा किलो सब्जी से ही काम चलाना पड़ रहा है। 

सब्जी खरीदने आए निरंजन का कहना है कि बीमार लोगों को बनाकर खिलाई जाने वाली सब्जी तोरी का भी बाजार में दाम 60 से 70 रूपए प्रति किलो है। सब्जी विक्रेता मिन्टू का कहना है कि लोकल सब्जियों की पैदावार मे कमी आई है, वहीं दूसरी और डीजल, पेट्रोल के भाव बढऩे के कारण ट्रांसपोर्ट का खर्चा भी बढ़ गया है, जिसकी वजह से भी सब्जियों के दामों मे वृद्धि हुई है। दूसरी और इन दिनो लोकल सब्जियां बहुत कम आ रही हैं अधिकतर सब्जियों की आवक बाहर से हो रही है जिस पर ट्रांसपोर्ट का खर्चा काफी लग जाता है। इसी वजह से सब्जियों के दामों मे अधिक वृद्धि हो रही है। 

सोहना की सब्जी मंडी मे सब्जियों के भाव :-
आलू  45 -50 रू. प्रति किलो               
लहसुन   150-160  
खीरा    30 से 35                   
शिमला  60-65,,   
फूल गोभी    20-25                   
बैंगन    50-60    
घीया    20-25                     
तोरी     50-60   
नीबू    60-70                    
प्याज      50-60   
हरी मिर्च 50-60                      
मटर     110-120   


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Shivam

Related News

Recommended News

static