आंदोलन में जिंदा जले शख्स का वीडियो आया सामने, पत्नी ने कहा- आवाज उसके पति की नहीं है

2021-06-19T09:08:36.163

बहादुरगढ़/टिकरी बॉर्डर (प्रवीण): टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन के बीच एक व्यक्ति को जिंदा जलाने की घटना से पूरे कसार गांव में रोष बना हुआ है। किसान नेताओं के आने की सूचना भर से गांव में गुस्से का माहौल हो गया है। गांव के सरपंच टोनी ने किसान नेता गुरनाम चढूनी और राकेश टिकैत को गांव में नहीं आने देने की बात कही है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर किसान नेता गांव में आए तो माहौल बिगड़ जाएगा और उसका जिम्मेदार प्रशासन होगा। उन्होंने कहा कि उनके खाप और गांवों के प्रधान गांव में और पीड़ित परिवार के पास आ सकते हैं क्योंकि उनका भाईचारा आज भी है।

वहीं इस मामले में मृतक मुकेश का एक और वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में किसी का चेहरा तो नजर नहीं आ रहा लेकिन दो आवाजें सुनाई दे रही है। बताया जा रहा है कि इन आवाजों में एक किसान की और दूसरी मृतक मुकेश की है। जब किसान पूछते हैं कि आग किसने लगाई तो मृतक कहता है उसने खुद लगाई क्योंकि वो अपने घर से दुखी है उसे अपनी घरवाली से दिक्कत है।

वहीं ये वीडियो सामने आने के बाद मृतक की मां और मृतक मुकेश की पत्नी रेनू का कहना है कि वीडियो में जो आवाज है वो उसके पति की नहीं है। रेनू का कहना है कि वो मृतक के साथ 10 साल से है वो उसकी आवाज बखूबी पहचानती है। मृतक की पत्नी और मां का कहना है कि किसान आंदोलन में शामिल लोग गांव में घूमते रहते हैं, जिससे माहौल खराब हुआ है। उन्होंने दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। साथ में पीड़ित परिवार ने भरण पोषण के लिए मुआवजा, बच्चे का पढ़ाई खर्च और बालिग होने पर नौकरी की मांग की है। मृतक मुकेश का 10 साल का एक बेटा भी है।

मृतक मुकेश को जिंदा जलाया गया या फिर मृतक ने परिवार से परेशान होकर खुद को आग लगाई, ये तो जांच का विषय है। जांच के बाद ही सच्चाई सामने आ सकती है। फिलहाल पुलिस ने एक आरोपी को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है। दूसरे आरोपी की पहचान हो गई है और अन्य दो आरोपियों की पहचान होनी बाकी है। गिरफ्तार आरोपी कृष्ण को पुलिस ने एक दिन के रिमांड पर भी लिया है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static