विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ग्रामीणों के जश्न में हुए शामिल, कहा- लोगों ने पेश की मिशाल

2/1/2021 12:48:26 PM

चंडीगढ़ (धरणी) : पंचकूला विधान सभा क्षेत्र के गांव बतौड़ का नाम रविवार को जैसे ही प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की जुबां पर आया तो हलका वासियों को गौरव का अनुभव हुआ। बतौड़ गांव में तो जश्न का माहौल बन गया। गांववासियों के इस जश्न में शामिल होने के लिए विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता भी पहुंच गए तो खुशी दोगुना हो गई। विधान सभा अध्यक्ष ने गांववासियों की मेहनत और स्वयं प्रेरणा से किए जा रहे नये प्रयोगों की सराहना की। उन्होंने कहा कि बतौड़ वासियों ने उनके हलके के साथ-साथ हरियाणा प्रदेश का भी नाम रोशन किया है।

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में पंचकूला जिले के गांव बतौड़ में हुए अभिनव प्रयोग की जमकर सराहना की है। यहां गांव में आबादी के बीच स्थित गंदे पानी का तालाब परेशानी का सबब बना हुआ था। खराब पानी आसपास के घरों में घुस जाता था और इसकी बदबू से ग्रामीण काफी परेशान थे। 2016 में सरपंच बने लच्छम दास ने इस समस्या के निराकरण का बीड़ा उठाया। इसके लिए उन्होंने गांववासियों को तैयार किया। गांववासियों ने सामूहिकता की भावना का परिचय देते हुए ऐसी मिसाल पेश की कि प्रधान मंत्री ने उनकी दिल खोल कर तारीफ की।

सरपंच लच्छम दास बताते हैं कि तालाब के गंदे पानी को साफ करने के लिए इसे पांच भागों में बांटा गया है। गंदा पानी पहले भाग में आता है, जहां इसकी गाद जम जाती है और इसके बाद पानी दूसरे भाग में डाल दिया जाता है। पांचों में भागों में यही क्रम दोहराया जाता है। पांचवें हिस्से में जाने बाद पानी पूरी तरह से साफ हो जाता है, जिसे किसानों को खेती के लिए उपलब्ध करवा दिया जाता है। लोग पंप-इंजन में अपने खर्च पर डीजल डालकर खेतों की सिंचाई करते हैं। सरपंच बताते हैं कि जब इस काम को शुरू किया तो विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने उनका उत्साह वर्धन किया था। इतना ही नहीं गुप्ता ने अपने स्वैच्छिक अनुदान से इस प्रोजेक्ट के लिए आर्थिक मदद भी की थी। गांव के पंच प्रेम चंद बताते हैं कि इस प्रयोग का लाभ गांव की व्यायाम शाला को भी मिल रहा है। इस तालाब से साफ होने वाले पानी को व्यायाम शाला तक पहुंचाया जाता है, जहां उससे पौधों की सिंचाई की जाती है। प्रेम चंद के अनुसार यह व्यायाम शाला भी गांव के युवकों के लिए प्रदेश सरकार की तरफ सौगात साबित हो रही है।

चंडीगढ़ परिवहन विभाग से सेवानिवृत्त बतौड़ निवासी हेम सिंह बताते हैं प्रधान मंत्री ने मन की बात में उनके गांव का जिक्र दुनिया भर में गांववासियों का सम्मान बढ़ाया है। इससे गांव के युवा वर्ग में आगे और काम करने की प्रेरणा जगी है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यह गांव इस क्षेत्र के लिए आदर्श स्थापित करेगा। पंचकूला जिला अदालत में अधिवक्ता बतौड़ निवासी मोना ठाकुर बताती हैं कि प्रधान मंत्री ने आज जिस प्रकार से गांववासियों की सराहना की है, उससे यहां उत्साह का वातावरण बना है। गांव की अन्य समस्याओं के निराकरण के लिए भी अब लोग प्रयत्न करेंगे। उन्होंने कहा कि जब गांव के लोग स्वयं प्रेरणा से काम शुरू कर देते हैं तो प्रशासन भी सहयोग करने लगता है।

बतौड़ निवासी मुकेश कुमार पंडित कहते हैं कि ‘मन की बात’ में गांव का जिक्र होने से उन्हें गर्व की अनुभूति हो रही है। यह तालाब सांपों का घर हो चुका है, जिससे आसपास के लोगों में डर का माहौल रहता था। गांव की पंचायत और स्थानीय लोगों ने मिलकर इस समस्या का समाधान निकाला है। अब यह पानी खेती के लिए लाभकारी हो गया है। समस्या का निराकरण होने के साथ-साथ किसानी में भी फायदा हो गया है। महिला पंच नेहा बताती हैं कि इस तालाब के सुधार से जहां गंदे पानी की समस्या का निराकरण हुआ है वहीं अब यहां हो रहा मछली पालन पंचायत की आमदनी का स्रोत भी बन गया है। इसके लिए उन्होंने सरपंच के प्रयास और विधायक ज्ञान चंद गुप्ता के सहयोग की भी सराहना की।

‘‘देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जब हरियाणा के प्रभारी थे तब पांच वर्ष तक पंचकूला में रहे थे। उन्होंने जिले के प्रत्येक गांव का स्वयं भ्रमण किया हुआ है। उन्होंने पंचकूला को विकसित होते हुए भी देखा है। आज जिस प्रकार गांव बतौड़ की पंचायत व गांववासियों ने सरपंच लक्षमण दास के नेतृत्व में पांच तालाबों का निर्माण करके गंदे पानी को साफ करके खेतों में सिंचाई के लिए प्रयोग किया जा रहा है। यह एक अति सराहनीय प्रयास है। इससे गांव के साथ-साथ किसानों की खुशहाली के भी नए आयाम स्थापित होंगे। इसके साथ-साथ तालाब में मछली पालन का भी ठेका दिया है, जिससे गांव की आय का सजृन भी हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात से दुनिया भर में इस गांव की पहचान स्थापित कर दी है। इसके लिए प्रधान मंत्री का आभार’’।

 


Manisha rana

Related News