टीचर ने छात्र को तिलक लगाने पर किया प्रताड़ित तो ब्राह्मण समाज के लोगों ने मंगवाई माफी

punjabkesari.in Thursday, Apr 21, 2022 - 08:25 PM (IST)

सिरसा(सतनाम): सिरसा में एक टीचर को अपने स्कूल के छात्र को तिलक लगाने पर प्रताड़ित करना महंगा पड़ गया। छात्र ने जब मामले को लेकर परिजनों को जानकारी दी तो ब्राह्मण समाज के लोग इक्ट्ठा होकर स्कूल पहुंचे और अंग्रेजी टीचर से माफी मंगवाई।

दरअसल, सिरसा के महाराजा अग्रसेन माध्यमिक विद्यालय का एक विद्यार्थी अंतरिक्ष पिछले 12 वर्षों से शिक्षा ग्रहण कर रहा है। अंतरिक्ष 10 वीं कक्षा का छात्र है ओर ब्राह्मण समाज से है तो वह स्कूल आते समय माथे पर तिलक लगाकर आता है । आरोप है कि टीचर द्वारा  उसे बार-बार बोला जा रहा है की अगर तुम तिलक लगाकर क्लास में नही आ सकते तो कभी रुमाल या पानी द्वारा विद्यार्थी के तिलक को मिटा दिया जाता है।

जिससे मानसिक प्रताड़ित होकर विद्यार्थी ने ये सारा मामला अपने परिजनों को बताया की जिसके बाद आज विद्यार्थी के परिजन समस्त ब्राह्मण समाज को लेकर स्कूल में एकत्रित हुए और आरोपी टीचर के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जाहिर किया। मामला बढ़ता देख टीचर ने अपने आचरण पर खेद व्यक्त किया जिसके बाद मामला शांत हुया ।

मामले को लेकर छात्रा के पिता का कहना है कि जब भी वह फीस जमा करवाने के लिए जाते थे तब ऐसी कोई बात सामने नहीं आई थी। लेकिन बच्चा अब मानसिक रूप से प्रताड़ित हो रहा था। उन्होंने बताया कि आज तो तिलक को लेकर सवाल उठाए गए हैं कल को किसी ओर विषय को लेकर सवाल उठाए जाएंगे जो हम कतई बर्दाश्त नही करेंगे। उन्होंने बताया कि हम संस्थान के साथ पूर्ण रूप से हैं लेकिन जिस अध्यापक ने यह सब किया है उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

मामले को लेकर छात्र ने बताया कि मैं पिछले 10 वर्षों से इस स्कूल में हूँ और रोजाना में तिलक लगाकर आता हूँ लेकिन 2 दिन पहले मेरे इंग्लिश के टीचर ने मुझे कहा कि तुम तिलक लगाकर क्लास में नही आ सकते। उन्होंने बताया कि घबराकर मैंने तिलक साफ कर दिया लेकिन बीते दिन फिर से पूरी क्लास में तिलक को लेकर मेरी हसीं उठाई गई ओर कहा कि तुम आगे से तिलक लगाकर मेरी क्लास में नही आ सकते। उन्होंने बताया कि मैंने इस विषय को लेकर क्लास इंचार्ज को भी अवगत कराया लेकिन उन्होंने कहा कि  जो टीचर कहेंगे वो आपको मानना पड़ेगा।

हालांकि, अब टीचर ने माफी मांग ली है और कहा है कि मेरा  किसी भी जाति धर्म के खिलाफ जाना व किसी की मानसिक भावनाओं को आहत करने का इरादा नही था। लेकिन बावजूद इसके यदि किसी की मानसिक भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं माफी मांगता हूं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static