आम आदमी पार्टी ने की पिहोवा नगर पालिका का चुनाव रद्द करने की मांग, जानें क्यों

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 11:54 AM (IST)

पिहोवा : आम आदमी पार्टी की ओर से पिहोवा नगर पालिका चेयरमैन प्रत्याशी अनिल धवन ने 22 जून को हुई मतगणना के 2 दिन बाद चुनाव में धोखाधड़ी कर भाजपा प्रत्याशी को जिताने का आरोप लगाया है।  उन्होंने इसकी लिखित शिकायत केंद्रीय चुनाव आयोग और राज्य चुनाव आयोग में की है। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर भी मिलीभगत कर भाजपा प्रत्याशी को जिताने की बात कही है।  अनिल धवन ने केंद्रीय चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और राज्य चुनाव आयुक्त धनपत सिंह से पिहोवा नगर पालिका के चेयरमैन के चुनाव को निरस्त कर इसकी निष्पक्ष जांच करने की मांग की है। जानकारी देते हुए अनिल धवन ने कहा कि पिहोवा नगर पालिका के चुनाव में कुल 20419 वोट पोल हुए थे। 

इसका ब्यौरा स्थानीय अधिकारियों द्वारा राज्य चुनाव आयोग की वैबसाइट पर भी दिया गया था लेकिन गिनती वाले दिन केवल 20363 वोटों की गिनती की गई। आखिरी राऊंड तक वे बढ़त बनाए हुए थे। अंतिम राऊंड में उन्हें 55 वोटों से हारा दिखाकर भाजपा प्रत्याशी को चेयरमैन घोषित कर दिया गया। 

56 वोटों की नहीं की गिनती
अनिल धवन ने बताया कि मतगणना के दिन अंत में 56 वोटों की गिनती नहीं की गई और न ही रिटॄनग अधिकारी ने इन वोटों के बारे में कोई स्थिति स्पष्ट की। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि 56 वोटों को खुर्द-बुर्द कर दिया गया। 
ऐसा भाजपा प्रत्याशी को जिताने के लिए किया गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर इस मामले में प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत के सुबूत मिलते हैं तो चुनाव आयोग जिम्मेदार अधिकारियों को सस्पैंड करे और दोबारा से गिनती कर स्थति को स्पष्ट करे तथा चेयरमैन के चुनाव को अमान्य घोषित करे। अनिल धवन ने कहा कि यदि उन्हें इंसाफ नही मिलता है तो वे कानूनी लड़ाई लडऩे से भी पीछे नही हटेंगे।
 

 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static