भ्रष्टाचार के आरोपों पर नगर परिषद् अधिकारियों की होगी जांच, ठेकेदार ने लगाए हैं आरोप

2021-06-12T10:01:57.187

रेवाड़ी (योगेंद्र सिंह) : नगर परिषद् अधिकारियों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप लगने मामले की जांच के लिए जल्द कमेटी गठित होने की संभावनाएं हैं। सफाई ठेकेदार द्वारा नगर परिषद अधिकारियों पर कमीशन के गंभीर आरोप जडऩे के बाद राज्यमंत्री डा. बनवारीलाल ने इस मामले की जांच का आश्वासन दिया है। पार्क के रखरखाव का ठैका लेने वाले ठेकेदार शीशराम यादव ने नगर परिषद् अधिकारियों पर 18 -18 परसेंट कमीशन के गंभीर आरोप लगाए थे। शीशराम ने कहा था कि छह महीने से उसका पेमेंट इसीलिए रूका है कि वह कमीशन नहीं दे पाया। कमीशन के खेल में कई अधिकारी लिप्त हैं।

उसने बताया थाा कि तीन साल पहले भी उसके पास ठेका था और उस पर पेमेंट रिलीज कराने के नाम पर मोटा कमीशन देने का दबाव बनाया गया और जब 18 परसेंट कमीशन दिया तब जाकर पेमेंट मिला था। ठेकेदार के इन गंभीर आरोपों के बाद प्रशासन भी हरकत में आ चुका है। अब जब डा. बनवारीलाल ने जांच का आश्वासन दिया है, तो साफ है कि कई अधिकारियों के चेहरे पर से नकाब हट सकता है। नगर परिषद में अधिकारी, ठेकेदार एवं पार्षदों का विवाद कोई नया नहीं है।

एक डेढ़ माह पहले भी कार्यकारी अभियंता हेमंत कुमार पार्षदों से भिड़ गए थे और उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई थी। इस मामले में सभी ने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। हालांकि बाद में मामला ठंडा हो गया। अब देखना होगा कि ठेकेदार के गंभीर आरोपों की जांच उपरांत किन अधिकारियों पर गाज गिरती है या फिर यह भी जांच के नाम पर फाइलों में कैद होकर रह जाएगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static